By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

चरित्र प्रमाण पत्र के लिए अब थानों का नहीं लगाना होगा चक्कर,ऑनलाइन होगा सारा काम.

HTML Code here
;

- sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : चरित्र प्रमाण पत्र बनवाने के लिए अब बिहार में लोगों को पुलिस थाने का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा.अब घर बैठे ही ऑनलाइन चरित्र प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया जा सकेगा .एडीजी आधुनिकीकरण कमल किशोर  के अनुसार गृह विभाग पिछले ढाई माह से इस व्यवस्था का ट्रायल कर रहा था जो सफल रहा.अब एक नवंबर से पूरे राज्य में शत प्रतिशत चरित्र प्रमाण पत्र आनलाइन उपलब्ध कराने की व्यवस्था लागू कर दी जाएगी. चरित्र प्रमाण पत्र बनाने की आनलाइन व्यवस्था की मानीटरिंग आइजी व डीआइजी के स्तर से की जाएगी. अगर सर्विस प्लस पोर्टल में कोई आवेदन अस्वीकृत किया जाता है, तो इसकी जानकारी संबंधित प्रक्षेत्र के आइजी-डीआइजी तक जाएगी.

पिछले दिनों गृह विभाग के सचिव की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में एनआइसी ने आश्वसत किया कि अब पोर्टल पूरी तरह से दुरुस्त है.आनलाइन चरित्र प्रमाण पत्र बनाने के लिए एनआइसी (राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र) की मदद से सर्विस प्लस पोर्टल बनाया गया है. 15 जुलाई से अरवल, पश्चिम चंपारण, भागलपुर, दरभंगा, गया, मुंगेर , मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, सारण और सहरसा जिले में ट्रायल पर यह व्यवस्था लागू की गई थी. आवेदक को यहां आनलाइन उपलब्ध फार्म भरने के बाद बिहार लोक सेवा के अधिकार के तहत 14 दिनों में चरित्र प्रमाण पत्र की आनलाइन कापी मिल जाएगी.

गृह विभाग ने 25 अक्टूबर तक थाना स्तर से जुड़े डाटा जिला पुलिस अधीक्षक, पुलिस मुख्यालय व विभाग स्तर पर मानीटङ्क्षरग के लिए उपलब्ध कराने को कहा गया है. इसके अलावा पोर्टल में एक से अधिक अभ्यर्थियों का चरित्र प्रमाण पत्र निर्गत करने के लिए मल्टीपल सिग्नेचर की सुविधा विकसित करने को भी कहा गया है.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.