By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पटना DTO के एग्जीक्यूटिव असिस्टेंट ने प्रेम-प्रसंग में दे दी जान.

मेडिकल स्टूडेंट्स से कहता था- मेरी नहीं हुई तो जान दे दूंगा... दिल्ली चली गई तो खा लिया जहर

HTML Code here
;

- sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : पटना के DTO ऑफिस में एग्जीक्यूटिव असिस्टेंट के पड़ पर तैनात एक अधिकारी शैशव ने प्रेम प्रसंग में अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली है.कदमकुआं थाना के तहत लोहानीपुर के काशीनाथ लेन में यह अधिकारी अपनी मां और छोटा भाई के साथ रहता था.सुबह परिवार वालों की नजर कमरे में पड़े शैलव पर गई तो उसके मुंह से झाग निकल रहा था. परिजन उसे लेकर PMCH गए, जहां डॉक्टर ने उसकी मौत की पुष्टि कर दी. इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को दी गई. परिवार वालों के अनुसार, सोमवार देर रात 2 बजे तक सबकुछ ठीक था। आशंका है कि उसके बाद ही उसने जहर खा लिया.

25 साल का शैलव राज अकसर यह बात अपनी गर्लफ्रेंड से कहता था कि तुम मेरी नहीं हुई तो जान दे दूंगा.उसने मंगलवार को इसे कर दिखाया. गर्लफ्रेंड ने उसकी बात नहीं मानी तो जहर खाकर अपनी जान दे दी. शैलव के घर के पास में ही उसके तीन मामा और उनका परिवार रहता है. भांजे के बारे में जानकारी मिलते ही पूरा परिवार घर पहुंचा. शैलव की मामी ने बताया कि वो एक मेडिकल छात्रा से प्यार करता था. वह पटना के हॉस्टल में रहती थी. जब पहला लॉकडाउन हुआ तब वो लड़की और उसकी मां घर में आकर दो महीने रही भी थी. शैलव उससे शादी करना चाहता था, लेकिन लड़की कहती थी 20 लाख रुपए दोगे तो शादी करूंगी. फिर वो पटना से दिल्ली चली गई. वो हमेशा टॉर्चर करती थी। इस कारण से लड़का डिप्रेशन में चला गया था.

दोस्त सौरभ के अनुसार, लड़की ने शैशव को बहुत परेशान कर रखा था.पहले तो वो शैलव के साथ में रहती थी. पूरे लॉकडाउन के दौरान साथ में रही. इसके बाद छोड़कर चली गई. अचानक से उसने अपना रिश्ता तोड़ लिया. शैलव बहुत टेंशन में आ गया.कई बार उसने लड़की से बात करने की कोशिश की, मगर वो लगातार इग्नोर करती रही. लड़की मेडिकल की स्टूडेंट है. वह छपरा की रहने वाली है. दूसरी तरफ, कदमकुआं थाना की पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. थानेदार विमलेंदु के अनुसार, लाश का पोस्टमार्टम करा दिया गया है. अभी तक इस मामले में कोई कंप्लेन दर्ज नहीं हुआ है.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.