By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पीएलएफआई ने ली त्रिवेणी कंपनी के जीएम की हत्या की जिम्मेवारी

;

- sponsored -

हजारीबाग जिले के बड़कागांव स्थित त्रिवेणी कंपनी के जीएम (एचआर) गोपाल सिंह की हत्या की जिम्मेवारी प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआई ) के मुखिया दिनेश गोप ने ली है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

 पीएलएफआई ने ली त्रिवेणी कंपनी के जीएम की हत्या की जिम्मेवारी

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: हजारीबाग जिले के बड़कागांव स्थित त्रिवेणी कंपनी के जीएम (एचआर) गोपाल सिंह की हत्या की जिम्मेवारी प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआई ) के मुखिया दिनेश गोप ने ली है। दिनेश गोप की ओर से पत्र जारी कर जानकारी दी गई है कि गरीब किसानों की जमीन पर अवैध कब्जा, खेती पर बुलडोजर चलवाने, बाहरी लोगों को नौकरी देने, पीएलएफआई के नाम पर करोड़ों रुपये कंपनी से वसूने और एक माह के अंदर दिनेश गोप की हत्या की धमकी गोपाल सिंह की मौत का कारण बनी। पत्र में पीएलएफआई ने खुद को गरीबों का रक्षक बताया है। हालांकि, पुलिस को अपराधियों के बारे में अब तक कोई सुराग नहीं मिल सका है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुटी हुई है, जिससे शूटर का चेहरा सामने आ सके। उल्लेखनीय है कि एनटीपीसी के लिए बड़कागांव के पकरी बरवाडीह में कोयला खनन करने वाली कंपनी त्रिवेणी सैनिक माइनिंग लिमिटेड के महाप्रबंधक (एचआर) गोपाल सिंह की बुधवार की शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वारदात सदर थाना के जुलू पार्क इलाके की है। गोपाल ऑटो से किसी से मिलने के लिए जुलू पार्क पहुंचे थे। बताया जाता है कि वहां करीब आधा घंटा बिताने के बाद वह वापस ऑटो से लौट रहे थे। जैसे ही वह ऑटो में बैठे तभी किसी ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने घटनास्थल से एक पिस्टल बरामद किया है। उस पर उग्रवादी संगठन पीएलएफआई लिखा हुआ है। डीआईजी पंकज कंबोज ने बताया कि पुलिस अपराधियों की धर-पकड़ के लिए छापेमारी कर रही है।
;

-sponsored-

Comments are closed.