By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

नालंदा : पुलिस के ऊपर लगा शराब माफियाओं के साथ सांठगांठ का आरोप

;

- sponsored -

भले ही राज्य सरकार सूबे में शराबबंदी के दावे कर रही हो, लेकिन यह दावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह प्रखंड हरनौत में ही खोखला साबित हो रहा है. जहां पुलिस के ऊपर शराब माफियाओं से सांठगांठ का आरोप लगा है.

-sponsored-

-sponsored-

नालंदा : पुलिस के ऊपर लगा शराब माफियाओं के साथ सांठगांठ का आरोप

सिटी पोस्ट लाइव : भले ही राज्य सरकार सूबे में शराबबंदी के दावे कर रही हो, लेकिन यह दावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह प्रखंड हरनौत में ही खोखला साबित हो रहा है. जहां पुलिस के ऊपर शराब माफियाओं से सांठगांठ का आरोप लगा है. ग्रामीणों की माने तो बार-बार शिकायत करने के बाद ही जब पुलिस ने शराब माफिया के ऊपर हाथ नहीं डाला तो ग्रामीणों ने ही शराब बरामद करने का मन बना लिया, और हरनौत थाना इलाके के डिहरा मुसहरी टोला स्थित तालाब और खेत से केवल एक दो नहीं बल्कि तीन सौ तीन अर्द्ध निर्मित और सैकड़ों बोतले देसी शराब को निकालकर पुलिस की कार्रवाई पर सवालिया निशान खड़ा कर दिया.

इलाके के लोगों का कहना है कि बार-बार शिकायत करने के बाद भी पुलिस इन लोगों पर कार्रवाई नहीं कर रही थी. थक हार-कर ग्रामीणों को ही इसका बीड़ा उठाना पड़ा. ग्रामीणों का कहना है कि 1 दिन पूर्व जहां असामाजिक तत्वों ने आकर दहशत फैलाने का काम किया था. पुलिस आई और पुलिस के सामने वे लोग हथियार लहराते हुए फरार हो गए उसके बाद पब्लिक उग्र  हुई और पुलिस को वापस लौटना पड़ा ग्रामीणों के बार-बार शिकायत के बाद भी शराब माफियाओं पर नकेल नहीं कसी गई. यह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का गृह क्षेत्र है और इनके हिलाके में शराबबंदी कानून फेल हो रहा है यह बड़े ही शर्म की बात है. इस मामले में हरनौत थाना पुलिस कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.