By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पुलिस आरोपित आपीएफ जवान की गिरफ्तारी के लिए कर रही छापेमारी

Above Post Content

- sponsored -

रामगढ़ जिले में मामूली विवाद में ट्रिपल मर्डर का मामला तूल पकड़ते जा रहा है। किसी की गिरफ्तारी नहींं होने से लोगों में आक्रोश है। रविवार की सुबह से ही आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर दी और बरकाकाना रेलवे स्टेशन पर भी लोगों ने दो यात्री ट्र्रे्न को रोक दिया।

Below Featured Image

-sponsored-

पुलिस आरोपित आपीएफ जवान की गिरफ्तारी के लिए कर रही छापेमारी
सिटी पोस्ट लाइव, रामगढ़: रामगढ़ जिले में मामूली विवाद में ट्रिपल मर्डर का मामला तूल पकड़ते जा रहा है। किसी की गिरफ्तारी नहींं होने से लोगों में आक्रोश है। रविवार की सुबह से ही आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर दी और बरकाकाना रेलवे स्टेशन पर भी लोगों ने दो यात्री ट्र्रे्न को रोक दिया। पुलिस सहित वरीय पदाधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर लोगों को समझाने का प्रयास किया। शनिवार की रात एक परिवार के पांच लोगों को गोली मार देने की घटना के बाद रविवार की सुबह 6:00 बजे से ही सड़क से लेकर रेलवे स्टेशन तक आक्रोशित लोगों ने तांडव मचाया। आक्रोशित लोगों ने रामगढ़ से रांची भाया पतरातु रोड बरकाकाना रेलवे स्टेशन के पास जाम कर दिया है। सड़क पर टायर जलाकर लाठी-डंडे से लैस ग्रामीणाेंं ने विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान आक्रोशित लोगों ने बरकाकाना जंक्शन पर रेलवे ट्रैक को भी जाम कर दिया। साथ ही दो यात्री ट्रेनों को भी उन्होंने रोक दिया। आक्रोशित लोगों को शांत कराने के लिए पतरातू एसडीपीओ प्रकाश चंद्र महतो मौके पर पहुंचे गये। एसडीपीओ ने मृतक के परिजनों से बात की और कहा कि पुलिस अपनी कार्रवाई कर रही है। वह अपना प्रदर्शन बंद कर दें, लेकिन मृतकों के परिजन आरोपी पवन कुमार सिंह की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हुए हैं। इस संबंध में रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार ने बताया कि आरोपी आरपीएफ जवान पवन कुमार सिंह की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। यहां तक कि पवन कुमार सिंह के पैतृक आवास बिहार राज्य के आरा जिले के पीरो थाना क्षेत्र अंतर्गत करथ गांव में भी पुलिस नजर बनाये हुए है। भोजपुर एसपी को भी इस मामले में सूचना दे दी गई है। समाचार लिखे जाने तक मौके पर स्थिति तनावपूर्ण थी। सड़कों पर जमे ग्रामीण किसी की बात मानने को तैयार नहीं दिख रहे। उनकी एक ही मांग की है कि आरोपित पवन को तुरंत गिरफ्तार किया जाये। उल्लेखनीय है कि रामगढ़ जिला के बरकाकाना रेलवे कॉलोनी में रहने वाले आरपीएफ के जवान ने दूध देने संबंधी मामूली विवाद में अपनी पिस्टल से रेलवे पोर्टर अशोक राम के परिवार के पांच लोगों को गोली मार दी थी। इस वारदात में अशोक राम, उनकी पत्नी लीलावती देवी और उनकी गर्भवती बेटी वर्षा देवी की मौत हो चुकी है। जबकि घायल दो लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

बरकाकाना में दो यात्री ट्रेनों रोकी गईं, रेल ट्रैक पर बैठे प्रदर्शनकारी 
हत्याकांड के विरोध में मृतक के परिजनों सहित आक्रोशित स्थानीय लोगों ने बरकाकाना जंक्शन पर प्लेटफार्म नंबर 3 और 4 पर दो यात्री ट्रेनों को रोक दिया। इनमें बरकाकाना-गोमो-पटना और दूसरी ट्रेन गोमो- बरवाडी- डेहरी- चुनार है। प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक पर रेलवे के बक्सों को रख दिया। खुद भी महिलाओं और बच्चों समेत रेलवे ट्रैक पर बैठ गए हैं। उनका कहना है कि जब तक उन्हें न्याय नहीं मिलता है और फरार अपराधी पवन कुमार सिंह को गिरफ्तार नहीं किया जाता है तब तक उनका यह प्रदर्शन जारी रहेगा।
Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.