By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

अजब स्वास्थ्य व्यवस्था के गजब नज़ारे, झोलाछाप डॉक्टर ने 10 महिलाओं की कर दी नसबंदी, वीडियो वायरल

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार में अजब स्वास्थ्य व्यवस्था के गजब नज़ारे देखने को मिलते हैं. कही टॉर्च की लाइट में ऑपरेशन हो जाता है तो कही सर्जन की जगह झोलाछाप डॉक्टर नसबंदी कर देते हैं. ताजा मामला अरवल से सामने आया है.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार में अजब स्वास्थ्य व्यवस्था के गजब नज़ारे देखने को मिलते हैं. कही टॉर्च की लाइट में ऑपरेशन हो जाता है तो कही सर्जन की जगह झोलाछाप डॉक्टर नसबंदी कर देते हैं. ताजा मामला अरवल से सामने आया है. करपी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में झोलाछाप डॉक्टर द्वारा नसबंदी किए जाने का कथित वीडियो वायरल होने के बाद स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. दरअसल 24 नवंबर को कैंप लगाकर करपी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 21 महिलाओं का बंध्याकरण किया जाना था. इसे लेकर एक सर्जन की नियुक्ति की गई थी.

यही नहीं निजी नर्सिंग होम चलाने वाले झोलाछाप डॉक्टर उपेंद्र कुमार को भी ऑपरेशन के लिए बुला लिया गया. वे बुलावे पर अस्पताल पहुंचे और 10 महिलाओं का ऑपरेशन कर दिया. इसी दौरान झोलाछाप डॉक्टर द्वारा किए जा रहे ऑपरेशन का वीडियो मरीज के परिजनों ने बना लिया. अब वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. यही नहीं वीडियो में साफ़ दिख रहा है कि एक झोलाछाप डॉक्टर बंध्याकरण का ऑपरेशन करते नजर आ रहे हैं.

इतना ही नहीं ऑपरेशन थिएटर बिल्कुल खुला हुआ है. किसी तरह की प्राइवेसी नहीं है और महिलाओं का ऑपरेशन किया जा रहा है.  झोलाछाप डॉक्टर ऑपरेशन के बाद बाहर निकलता है और बताता है कि लगभग 20 से अधिक लोगों का अभी ऑपरेशन होना बाकी है. अब तक हमने 10 से अधिक लोगों का ऑपरेशन कर दिया. इस मामले पर डीएम जे प्रियदर्शनी ने कहा कि पहले वीडियो की जांच की जाएगी तभी कुछ भी कहा जा सकता है. सरकारी अस्पताल में झोलाछाप डॉक्टर का इलाज करना दुर्भाग्यपूर्ण है और अगर ऐसा हुआ है तो संबंधित लोगों पर कार्रवाई होगी.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.