By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

रांची पुलिस ने शातिर चोर धीरज जालान के घर से 15 देशों के रुपये बरामद किए

इंडोनेशिया के साढे 27 लाख, भारत का चार लाख अट्ठारह हजार सहित अन्य देशों के रुपये बरामद

- sponsored -

0

रांची पुलिस ने शातिर चोर धीरज जालान के घर से 15 देशों के रुपये बरामद किए हैं। पुलिस आरोपी के घर से 15 देशों की करेसीं बरामद की। इसमें सबसे अधिक इंडोनेशिया के 27.50 लाख रुपये बरामद किया गया।

-sponsored-

रांची पुलिस ने शातिर चोर धीरज जालान के घर से 15 देशों के रुपये बरामद किए

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: रांची पुलिस ने शातिर चोर धीरज जालान के घर से 15 देशों के रुपये बरामद किए हैं। पुलिस आरोपी के घर से 15 देशों की करेसीं बरामद की। इसमें सबसे अधिक इंडोनेशिया के 27.50 लाख रुपये बरामद किया गया। वही भारतीय रुपये 4.18 लाख रुपये, 26 हजार रुपये के सिक्के, बांग्लादेश का 2 टाका, मलेशिया का 6 रिंगिट, भूटान का 3 गुलट्रम, अफगानिस्तान का 50 रुपया, ईरान का 50 रियाल, ओमान का 100 रियाल, सऊदी अरब का 6 रियाल, नेपाल का 710 रुपया, यूनाइटेड अरब का 10 दिरहम, वियतनाम का 2000 डॉन एक पीस और 1000 डॉन एक पीस, पाकिस्तान का 11 रुपया, अमेरिका का तीन डॉलर, थाईलैंड का 10100 भाट तथा रूस का 1000 रूबल शामिल है। कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार विमल ने सोमवार देर शाम प्रेसवार्ता में बताया कि रांची पुलिस धीरज जालान को बाइक चोर समझती थी। लेकिन वह एक बड़ा शातिर चोर निकला, जो बाइक चोरी के साथ साथ वाहन का शीशा तोड़कर चोरी करने, चेन छिनतई, मोबाईल छिनतई सहित कई तरह के वारदातों को अंजाम अपने गिरोह के सदस्यों के माध्यम से देता था। गिरोह के एक सदस्य कुणाल कुमार पासवान की गिरफ्तारी के बाद पुलिस उसकी निशानदेही पर रविवार  देर रात सुखदेवनगर थाना क्षेत्र के गाड़ीखाना के बाबुलाल भवन स्थित धीरज जालान के घर छापेमारी की तो पुलिस टीम के होश उड़ गए। डीएसपी ने बताया कि कुणाल कुमार पासवान डोरंडा में 15 जुलाई को डॉक्टर रंजन देव की गाड़ी का शीशा तोड़कर घटना को अंजाम दिया था। उस वक्त डॉक्टर रंजन सब्जी लेने के लिए गए थे। उसी समय गिरोह के सदस्यों ने उनके कार का शीशा तोड़कर पासपोर्ट, ढाई लाख रुपए और लैपटॉप चोरी कर ली थी। थाने में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद पुलिस आरोपित की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही थी। जब पुलिस आरोपित को गिरफ्तार की तो पुछताछ में उसने पुलिस को कई जानकारी दी। इसी आधार पर धीरज जालान के घर छापेमारी की गई। पुलिस इस गिरोह के नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए अलग -अलग टीम बनाकर विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

इन स्थानों पर है गिरोह सक्रिय 
डीएसपी ने बताया कि धीरज जालान का गिरोह रांची के अलावे खूंटी, लोहरदगा, रामगढ़ व सिमडेगा में सक्रिय है। वही विदेशी रुपये मिलने के बारे में डीएसपी ने बताया कि विदेशी रुपये के लिंक को पुलिस खंगाल रही है ।

Also Read

-sponsored-

रुपये के अलावा कई सामान हुए बरामद

डीएसपी ने बताया कि 15 देशों के रुपए बरामदगी के अलावा धीरज जलान के घर से 148 पीस चांदी के सिक्के, एक पीस रिवाल्वर, 9 एमएम की एक गोली, 7.56 एमएम की एक गोली, 8 एमएम की दो गोली, 9 एमएम का एक मैगजीन, 20 लैपटॉप, 270 मोबाईल, 64 चार्जर, 7 पीस टेब, 48 हैडफोन, 25 पेनड्राईव, 12 डोगल, 1 हार्ड डिस्क, 1 कैनन का कैमरा, 25 सीम, 37 चश्मा, 34 लैपटॉप बैग, 15 पीस छोटा हैड बैग, एक अमेरिकन टुरिस्ट ट्रॉली बैग, एक जोड़ा पायल, तीन पीस चूड़ी व एक जोड़ा कंगन ,14 पीस लेडिज पर्स, 7 पीस डेन्ट्स पर्स, 3 पासपोर्ट, 8 एटीएम, 10 चेकबूक, 34 कलाई घड़ी और 30 से अधिक विभिन्न कंपनियों के हेलमेट भी बरामद किया गया है।

9 मामलों में थी धीरज जालान की तलाश
डीएसपी ने बताया कि रांची के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में नौ मामलों में धीरज चालान की तलाश थी। पुलिस की तलाश से बचने के लिए उसने खूंटी के मरांगहादा में चोरी और जालसाजी के मामले में 4 सितंबर को सरेंडर कर दिया है। पुलिस उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी।

मामले में दो लोगों की हुई गिरफ्तारी

डीएसपी ने बताया कि गिरोह के दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनमें कुणाल कुमार पासवान और धीरज जालान के पिता श्यामसुंदर जालान शामिल है।

छापेमारी टीम में ये थे शामिल
छापेमारी टीम में कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार बिमल, सिटी डीएसपी अमित कुमार सिंह, डीएसपी यशोदरा, डोरंडा थानेदार अनिल कुमार कर्ण, चुटिया थानेदार रवि ठाकुर, सुखदेव नगर थानेदार संजय कुमार, डोरंडा थाना के परिचारी पुलिस अवर निरीक्षक चन्द्रशेखर यादव व शशि शेखर पाण्डेय, चुटिया थाना के पुलिस अवर निरीक्षक रंजीत कुमार व परिचारी अवर निरीक्षक पंकज चौधरी, सुखदेवनगर थाना के परिचारी अवर निरीक्षक संजय कुमार दास व अमित कुमार पासवान, अवर निरीक्षक रमेश कुमार साहु, राकेश कुमार प्रेम प्रकाश, राजेन्द्र रजक, संदीप कुमार  ,राजेश्वर साहू और मनोज प्रसाद यादव सहित सुखदेवनगर थाना के जवान, साईबर सेल के कर्मी सहित 30 सदस्य सदस्यीय टीम शामिल थी।

-sponsered-

-sponsored-

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More