By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

ARAH-PATNA SEX SCANDLE ,गिरफ्तारी के डर से RJD विधायक अंडरग्राउंड

;

- sponsored -

एक सप्ताह पहले पीड़ित लड़की का बयान वायरल हुआ था जिसमे उसने विधायक पर गंभीर आरोप लगाया था. उसी के बाद से पुलिस एकबार फिर से सक्रीय हो गई है.संचालिका अनिता देवी ने किशोरी को विधायक के यहां भेजे जाने का खुलासा किया था लेकिन पुलिस ने विधायक के खिलाफ कोई कारवाई नहीं की.

-sponsored-

-sponsored-

ARAH-PATNA SEX SCANDLE ,गिरफ्तारी के डर से RJD विधायक अंडरग्राउंड

सिटी पोस्ट लाइव :  बिहार के बहुचर्चित आरा-पटना सेक्स रैकेट (Patna-Ara Sex Racket) मामले में नया मोड़ आ गया है.नाबालिग पीड़ित लड़की द्वारा  आरजेडी विधायक का नाम लिए जाने के बाद पुलिस सक्रीय हो गई है. सेक्स स्कैंडल (Sex scandal) के दलदल में फंसी आरा की रहने वाली पीड़ित नाबालिग लड़की (Minor Girl Victim) ने कोर्ट में दोबारा 164 का बयान कलमबंद कराया है.सूत्रों की माने तो अपने इस बयान में उसने आरजेडी विधायक (RJD MLA) को इस सेक्स रैकेट का सूत्रधार बता दिया है.पुलिस की कार्रवाई और गिरफ्तारी के डर से आरजेडी विधायक अंडरग्राउंड (Underground) हो गए हैं.

पुलिस पूछताछ के लिए RJD विधायक  रहा है. जांच से जुड़े पुलिस अधिकारियों का कहना है कि दो दिनों से आरजेडी विधायक का सुराग नहीं मिल पा रहा है. उनका मोबाइल भी स्विच ऑफ बता रहा है.दुसरे नंबर पर ये जबाब मिल रहा है कि – नो कॉमेंट. लेकिन पुलिसिया कारवाई पर भी सवाल उठ रहा है. विधायक का नाम तो शुरू में ही सामने आ गया था फिर आजतक पुलिस ने उनसे पूछताछ क्यों नहीं की. गौरतलब है कि एक सप्ताह पहले पीड़ित लड़की का बयान वायरल हुआ था जिसमे उसने विधायक पर गंभीर आरोप लगाया था. उसी के बाद से पुलिस एकबार फिर से सक्रीय हो गई है.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

गौरतलब है कि सोमवार की शाम ही कांड के आइओ चंद्रशेखर गुप्ता ने कोर्ट से सील बंद लिफाफे में बयान की कॉपी लिया था. इस मामले में आरा टाउन थाना की पुलिस संचालिका अनीता, दलाल संजीत और इंजीनियर अमरेश के अलावा सेक्स रैकेट के संचालक संजय यादव उर्फ जीजा को जेल भेज चुकी है. सीआईडी भी अलग से केस की तफ्तीश कर रही है.

छह सितंबर को सेक्स रैकेट कांड में पीड़ित किशोरी का दोबारा बयान आरा कोर्ट में दर्ज कराया गया था. 18 जुलाई को पटना में संचालित सेक्स रैकेट गिरोह के चंगुल से भागकर भोजपुर पुलिस के पास पहुंची किशोरी ने इंजीनियर समेत सचिवालय स्थित विधायक के आवास पर भेजे जाने की बात कही थी.  पकड़ी गई संचालिका अनिता देवी ने किशोरी को विधायक के यहां भेजे जाने का खुलासा किया था लेकिन पुलिस ने विधायक के खिलाफ कोई कारवाई नहीं की.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.