By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

गिरिडीह में मुखिय समेत आठ पर साइबर क्राइम का मामला दर्ज

;

- sponsored -

जिले के गांडेय प्रखंड के दासडीह पंचायत के मुखिया हरि मंडल समेत आठ पर साइबर क्राइम को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, गिरिडीह: जिले के गांडेय प्रखंड के दासडीह पंचायत के मुखिया हरि मंडल समेत आठ पर साइबर क्राइम को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई है। यह एफआईआर साइबर थाना के प्रशिक्षु दारोगा नियाज अहमद के बयान पर दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस ने गिरफ्तार एक साइबर अपराधी अहिल्यापुर थाना क्षेत्र के पंदनिया मोड़ निवासी गोविंद मंडल को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।
साइबर थाना प्रभारी सहदेव प्रसाद ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि पंदनिया मोड़ निवासी गोविंद मंडल और कैलाश मंडल साइबर अपराधी गोविंद मंडल और हरि मंडल के साथ मिलकर साइबर ठगी कर रहा था। इसी सूचना के आधार पर अहिल्यापुर थाना क्षेत्र के पंदनिया मोड़ स्थित गोविंद मंडल के घर छापेमारी की गई। छापेमारी में एक साइबर अपराधी भागने में सफल रहा, जबकि गोविंद मंडल पकड़ा गया। भागने के दौरान एक आरोपी का मोबाइल गिर गया, जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। सहदेव प्रसाद ने बताया कि पूछताछ में गोविंद मंडल ने अपने साथियों के कई राज उगले हैं। इसी आधार पर आठ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। प्राथमिकी में अहिल्यापुर थाना क्षेत्र के पंदनिया मोड़ के गोविंद मंडल और कैलाश मंडल, चामलिट्टी के शिबू मंडल और घोसको के छोटन मंडल, गांडेय थाना क्षेत्र के रसकुट्टो गोविंद मंडल और मरगोडीह के हरि मंडल और दो अलग-अलग मोबाइल नंबर के धारक को अभियुक्त बनाया गया है।
Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

साइबर थाना प्रभारी ने बताया कि रंगेहाथ पकड़ाए साइबर अपराधी गाविंद मंडल को 2017 के अप्रैल में अहिल्यापुर से छत्तीसगढ पुलिस ने साइबर ठगी और धोखाधड़ी के आरोप में पकड़कर जेल भेजा था। प्राथमिकी में रकसकुट्टो के गोविंद मंडल गांडेय के मुखिया हरी मंडल आरोपी है। वहीं मुखिया हरी मंडल है, जो गांडेय के तत्कालीन बीडीओ प्रभाकर मिर्धा और मरगोडीह के आजाद मंडल को गोली मारने की वारदात के खुलासे में साजिशकर्ता के रूप में नाम सामने आया था। इस मामले में वह जेल भी गया था। इसी प्रकार प्राथमिकी अभियुक्त कैलाश मंडल साइबर कांड का आरोपी है और इस मामले में जेल जा चुका है और वर्तमान में जमानत पर है। साइबर थाना प्रभारी ने कहा कि ये सभी अभियुक्त पेशेवर और आदतन साइबर अपराधी है।
;

-sponsored-

Comments are closed.