By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

फिर एक झोला छाप चिकित्सक ने ली मासूम की जान, आक्रोशितों ने जमकर की तोड़फोड़

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार में कई ऐसे जिले हैं जहां के गांवों में झोला छाप डॉक्टरों ने उत्पात मचा रखा है. चंद पैसे बचाने के चक्कर में मरीज की इलाज करवाई जाती है लेकिन, इसके बाद बात उनकी जान पर बन आती है. ऐसी ही खबर बगहा से सामने आ रही है जहां, एक झोला छाप डॉक्टर की वजह से एक मासूम की जान चली गयी.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव: बिहार में कई ऐसे जिले हैं जहां के गांवों में झोला छाप डॉक्टरों ने उत्पात मचा रखा है. चंद पैसे बचाने के चक्कर में मरीज की इलाज करवाई जाती है लेकिन, इसके बाद बात उनकी जान पर बन आती है. ऐसी ही खबर बगहा से सामने आ रही है जहां, एक झोला छाप डॉक्टर की वजह से एक मासूम की जान चली गयी. वहीं, इस घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने डॉक्टर के क्लिनिक में जमकर तोड़फोड़ की. लोगों ने जमकर बवाल काटा.

इस घटना के बारे में बताया जा रहा है कि, इमलिया टोला निवासी नवी आलम के चार वर्षीय पुत्र परवेज आलम को अचानक बुखार आ गया था. जिसके बाद आनन-फानन में उसने अपने बेटे को गांव के ही डॉक्टर मौफिक कुमार शर्मा के पास ले गए. इसके उपरांत उस डॉक्टर ने बच्चे को इंजेक्शन और दवा दी. जिसके बाद बच्चे की तबियत सही होने के बजाये और बिगड़ती चली गयी. इसके बाद बच्चा बेहोश हो गया. वहीं, डॉक्टर ने उस बच्चे को अन्य अस्पताल में रेफ़र करने की बात कही और इसके बाद वह मौके से फरार हो गया.

वहीं, इसके बाद बच्चे के परिजन आनन-फानन में बच्चे को पीएचसी ले गए लेकिन, इस दौरान ही बच्चे ने अपना दम तोड़ दिया. इसके बाद परिजन बच्चे की मौत का शिकायत लेकर रामनगर थाना पहुंचे. वहीं, इस घटना से आक्रोशित लोगों ने क्लिनिक में जमकर बवाल किया और जमकर तोड़फोड़ की. वहीं, परिजन क्लिनिक पर पहुंचकर डॉक्टर की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हुए हैं. बता दें कि, यह पहली बार नहीं है जब किसी झोला छाप डॉक्टर की वजह से किसी की जान गयी है.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.