By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

राजेश नायक हत्याकांड का खुलासा करते हुए दो अपराधियों गिरफ्तार

;

- sponsored -

रांची पुलिस ने जमीन कारोबारी राजेश नायक हत्याकांड का खुलासा करते हुए दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों में नामकुम निवासी रुपेश सिंह और दिनेश सिंह शामिल है।

-sponsored-

-sponsored-

राजेश नायक हत्याकांड का खुलासा करते हुए दो अपराधियों गिरफ्तार

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: रांची पुलिस ने जमीन कारोबारी राजेश नायक हत्याकांड का खुलासा करते हुए दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों में नामकुम निवासी रुपेश सिंह और दिनेश सिंह शामिल है। इनके निशानदेही पर पुलिस ने गोली का दो खोखा और दो मोबाइल फोन बरामद किया है। एसएसपी अनीश गुप्ता ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रेस में बताया कि राजेश की हत्या की साजिश उसके बचपन के दोस्त रुपेश ने रची थी। दोनों एक ही स्कूल में साथ ही पढ़ते थे। रुपेश अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर हत्या कर घटनास्थल से फरार हो गया था। इस मामले में अब भी चार अपराधी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुलिस फरार अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

संजय की हत्या की सुपारी राजेश ने ली थी

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

एसएसपी ने बताया कि मृतक राजेश नायक ने संजय साहू हत्याकांड में संलिप्त संजय नायक की हत्या की सुपारी ली थी। मृतक राजेश ने संजय की हत्या की सुपारी 10 लाख में ली थी। गिरफ्तार आरोपी रुपेश सिंह और मृतक राजेश नायक ने मिलकर यह सुपारी ली थी। लेकिन पैसा बंटवारे को लेकर रुपेश और राजेश में विवाद हुआ। जिसके बाद रुपेश ने इस बात की जानकारी संजय नायक को दे दी। इसके बाद संजय नायक के कहने पर रुपेश ने साजिश के तहत राजेश नायक को रिंग रोड में लेकर पहुंचा और शराब पिलाकर सभी ने मिलकर राजेश नायक की गोली मारकर हत्या कर दी। एसएसपी ने बताया कि रुपेश के नाम से संपत्ति खरीदकर राजेश बेचने का काम करता था। राजेश ने एक जमीन बेचकर 35 लाख रुपये देने का रुपेश को वादा किया था लेकिन उसने उसे मात्र 10 लाख रुपये ही दिये। राजेश नायक पूर्व में चुटिया में अरुण नाग हत्या में तीन माह पूर्व ही जेल से जमानत पर रिहा हुआ था।

छापेमारी टीम में ये थे शामिल

छापेमारी टीम में डीएसपी मुख्यालय प्रथम निरज कुमार, नामकुम इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार, एसआई अनिल कुमार सिंह सहित सशस्त्र पुलिस बल शामिल थे।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.