By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सहरसा : बेखौफ अपराधियों ने पंचायत सचिव की गोली मारकर कर दी हत्या 

;

- sponsored -

बीते तीन महीने के भीतर सहरसा जिले में डेढ़ दर्जन से ज्यादा सिर्फ हत्या की घटना घटी है। लूट, राहजनी और अन्य संगीन वारदातों की तो झड़ी लगी हुई है।इस जिले में पुलिस का खौफ और कानून, दोनों ठेंगे पर है।

-sponsored-

-sponsored-

सहरसा : बेखौफ अपराधियों ने पंचायत सचिव की गोली मारकर कर दी हत्या 

सिटी पोस्ट लाइव : “बिहार में बहार है, नीतीशे कुमार है” यह स्लोगन अब ना केवल सीने को चाक कर रहा है बल्कि इसे सुनकर अब लोगों को शर्मिंदगी भी महसूस होती है। खासकर बिहार के सहरसा जिले को अपराधियों ने अपने कब्जे में ले लिया है। बीते तीन महीने के भीतर सहरसा जिले में डेढ़ दर्जन से ज्यादा सिर्फ हत्या की घटना घटी है ।लूट,राहजनी और अन्य संगीन वारदातों की तो झड़ी लगी हुई है ।इस जिले में पुलिस का खौफ और कानून,दोनों ठेंगे पर है। हत्या के बदस्तूर जारी इस दौर में ताजा मामला सहरसा जिले के पतरघट ओपी क्षेत्र से आया है ।बेखौफ और निडर हो चुके अपराधियों ने बीती देर रात एक पंचायत सेवक की गोली मारकर हत्या कर दी ।इस घटना की जानकारी मिलते ही आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई है ।आज सुबह जब आसपास के लोगों की नजर लाश पर गयी,तो कोई भी शव की पहचान नहीं कर पाए। लेकिन बड़ी मशक्कत के बाद मृतक की पहचान बालेश्वर यादव के रूप में की गई जो सोनबरसा राज थाना क्षेत्र के तमकुल्हा गाँव के रहने वाले थे ।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक मृतक बालेश्वर यादव सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड क्षेत्र में पंचायत सेवक के रूप में कार्यरत थे ।घटना के सम्बंध में बताया जा रहा है कि बीती देर रात मृतक बालेश्वर यादव बाईक से एक शादी समारोह में शामिल होने पतरघट के सहसराम गांव गए हुए थे ।समारोह से वापसी के दौरान अपराधियों ने करियत नहर के समीप गोली मारकर उनकी हत्या कर दी ।घटना को लेकर जब हमने मृतक के परिजनों से बात की,तो तत्काल उन्होंने किसी से कोई दुश्मनी और किसी तरह के विवाद से तत्काल इनकार किया है ।फिलहाल हत्या क्यों की गई है यह स्पष्ट नहीं हो सका है । परिजनों का कहना है कि पूर्व में मृतक बालेश्वर यादव,पतरघट अंचल क्षेत्र में कई वर्षों तक पंचायत सेवक के रूप में कार्यरत थे ।कुछ दिन पूर्व ही सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड क्षेत्र में उनका तबादला हुआ था ।घटना की सूचना मिलने पर आज सुबह मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु सदर अस्पताल सहरसा भेज दिया ।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद लाश को परिजनों को सौंप दिया है ।इधर मौके से बाईक बरामद करते हुए, पुलिस अधिकारियों ने छानबीन शुरू कर दी है ।पुलिस अधिकारी भी अभी तक सकते में हैं कि आखिर हत्या की वजह क्या हो सकती है ?आखिर किसने इस वारदात को अंजाम दिया है ?अब सभी कुछ पुलिस की आगे की जांच के बाद ही स्प्ष्ट हो पाएगा कि आखिर पंचायत सेवक की हत्या किसने और क्यों की ?वैसे सहरसा जिला में अपराधियों की समानांतर सरकार चल रही है,इस बात से कतई इनकार नहीं किया जा सकता है ।वैसे भी राज्य मुख्यालय में अपराध के मौजूद  डाटे के मुताबिक सहरसा जिला सबसे ऊपर है ।डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे की तमाम कोशिशें और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पुलिस के उच्चाधिकारियों के साथ लॉ एंड ऑर्डर को लेकर हुई बैठक,डपोरशंखी साबित हो रही है ।वैसे यह तयशुदा है कि वसूली वाली पुलिस को आसानी से असली पुलिस बनाना नामुमकिन है ।

पीटीएन न्यूज मीडिया ग्रुप के सीनियर एडिटर मुकेश कुमार सिंह की “विशेष” रिपोर्ट

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.