By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

नालंदा : अनियंत्रित ट्रैक्टर ने पिता-पुत्र को रौंदा, एक की मौत दुसरे की हालत गंभीर

घंटों सड़क जाम कर किया मुआवजे की मांग

- sponsored -

शव को उठाने आयी पुलिस के साथ ग्रामीणों की झड़प भी हुई. बताया जाता है कन्हाई बिन्द अपने पुत्र बुधन के साथ घर जा रहा था इसी बीच पीछे से तेज रफ़्तार में आ रही, ईंट से लदा अनियंत्रित ट्रैक्टर ने दोनों को कुचल दिया. जिससे कन्हाई बिन्द की मौत हो गयी जबकि उसका पुत्र गंभीर रूप से जख्मी हो गया.

-sponsored-

नालंदा : अनियंत्रित ट्रैक्टर ने पिता-पुत्र को रौंदा, एक की मौत दुसरे की हालत गंभीर

सिटी पोस्ट लाइव : हिलसा थाना इलाके के योगीपुर रोड में मलामा गांव के समीप अनियंत्रित ट्रैक्टर ने पिता -पुत्र दोनों को रौंदा डाला, जिससे पिता की मौके पर ही मौत हो गयी. जबकि पुत्र गंभीर रूप से जख्मी हो गया. इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रैक्टर चालक सहित ईट भट्ठा के तीन मजदूरों की पिटाई की और बंधक बना कमरे में बंद कर दिया, साथ ही सड़क जाम कर खूब हंगामा किया. सुचना मिलने के बाद शव को उठाने आयी पुलिस के साथ ग्रामीणों की झड़प भी हुई. बताया जाता है कन्हाई बिन्द अपने पुत्र बुधन के साथ घर जा रहा था इसी बीच पीछे से तेज रफ़्तार में आ रही, ईंट से लदा अनियंत्रित ट्रैक्टर ने दोनों को कुचल दिया. जिससे कन्हाई बिन्द की मौत हो गयी जबकि उसका पुत्र गंभीर रूप से जख्मी हो गया.इस घटना से नाराज ग्रामीणों ने पहले तो ट्रैक्टर ड्राइवर को और उनके साथ तीन मजदूरों की जमकर पिटाई की. उसके बाद उसके हाथ बांध कर एक कमरे में बंद कर दिया ताकि वो भाग न पाए. इतना ही नहीं ग्रामीणों ने पीड़ित को मुआवजा दिलाने के लिए सडक जाम कर खूब हंगामा और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इस घटना के विषय में प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया की ड्राइवर सहित सभी शराब के नशे में थे.

वे लोग लोग पूरी रफ़्तार से ट्रैक्टर चलते आ रहे थे. ग्रामीणों का कहना है कि आये दिन ऐसे सड़क हादसे होते हैं, जिसपर पुलिस प्रशासन कोई ध्यान नहीं देती है. इतना ही नहीं गांव वालों का आरोप है कि शराब का भी कारोबार पुलिस की मिलीभगत से चल रहा है. जिस कारण लोग खुलेआम शराब पीकर गाड़ी चलते पाए जाते हैं. घंटों तक चले हो हंगामे के बाद पहुंची पुलिस से ग्रामीणों की काफी देर तक बहस चली. पुलिस द्वारा मान-मनौअल के बाद और मुआवजा दिलाने के आश्वासन पर ग्रामीण शांत हुए.

Also Read

-sponsored-

नालंदा से प्रणय राज की रिपोर्ट 

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.