By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पुलिस अधिकारी और सिपाही करे कोई भी गड़बड़ तो इस व्हाट्सएप नंबर पर भेजें शिकायत.

;

- sponsored -

डीजीपी के आदेश पर पुलिस मुख्यालय ने एक व्हाट्सएप नंबर जारी किया है. उस व्हाट्सएप नंबर पर अगर आपके जिले में किसी स्तर के पुलिसकर्मी के खिलाफ कोई शिकायत हो तो आप उस पर सबूत के साथ सूचना भेज सकते हैं. आप की सूचना के बाद वरीय अधिकारियों की टीम सत्यापित करेगी और जरूरत होगी तो स्थल पर जाकर जांच भी करेगी.बिहार पुलिस मुख्यालय ने व्हाट्सएप नंबर 94316 02301 जारी किया है.

-sponsored-

-sponsored-

 

सिटी पोस्ट लाइव  : अब कोई बिहार पुलिस का अधिकारी या सिपाही अगर आपके साथ बदसलूकी करे या फिर कानून के साथ खिलवाड़ करे या फिर माफिया से सांठ-गाँठ करे तो तुरत उसकी शिकायत पुलिस मुख्यालय से करिए,पुलिसवाले की हो जायेगी छुट्टी.लेकिन गलत कम्प्लेन किया तो फंस जायेगें. डीजीपी के आदेश पर पुलिस मुख्यालय ने एक व्हाट्सएप नंबर जारी किया है. उस व्हाट्सएप नंबर पर अगर आपके जिले में किसी स्तर के पुलिसकर्मी के खिलाफ कोई शिकायत हो तो आप उस पर सबूत के साथ सूचना भेज सकते हैं.

 आप की सूचना के बाद वरीय अधिकारियों की टीम सत्यापित करेगी और जरूरत होगी तो स्थल पर जाकर जांच भी करेगी.बिहार पुलिस मुख्यालय ने व्हाट्सएप नंबर 94316 02301 जारी किया है.इस नंबर पर आप किसी भी पुलिसकर्मी के खिलाफ साक्ष्य के साथ शिकायत कर सकते हैं. बिहार पुलिस मुख्यालय ने कहा है कि अगर किसी पुलिसकर्मी के खिलाफ कोई शिकायत हो, जैसे उनके अपराधियों से मिलीभगत, जनता के साथ दुर्व्यवहार, अनुसंधान में निजी लाभ के लिए गड़बड़ी करना, शराब माफियाओं से मिलीभगत या अन्य कोई शिकायत हो तो 22 तारीख से 31 तारीख यानी 10 दिनों के भीतर सबूत के साथ इस फोन नंबर पर सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक व्हाट्सएप करें.

[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

पुलिस मुख्यालय ने लोगों से अपील किया है कि चोरी डकैती लूट,रंगदारी मांगने वाले अपराधी और अपराधी गिरोह के बारे में शराब जुआ लॉटरी गेसिंग का कारोबार करने वाले लोगों के बारे में भी विस्तार से सूचना दें. सूचना को पूरी तरह से गुप्त रखा जाएगा और कभी भी किसी को सूचना देने वाले के बारे में जानकारी नहीं होगी. आपकी सूचना पर अपराध नियंत्रण के लिए विशेष रूप से गठित पुलिस की टीम काम करेगी इससे अपराध नियंत्रण में सहायता मिलेगी.पुलिस मुख्यालय कहा है कि पुलिस प्रशासन को पारदर्शी बनाने के लिए यह कार्यक्रम और एक-एक कर बिहार के सारे जिलों में चलेगा. अभी शुरुआत सीतामढ़ी से हुई है. पुलिस मुख्यालय ने यह भी कहा है कि व्यक्तिगत दुर्भावना से किसी के बारे में गलत सूचना देना भी जुर्म है इससे पुलिसकर्मियों का मनोबल गिरता है.

Also Read

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.