By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

यूथ ब्रिगेड रखेगा शराब की तस्करी में शामिल पुलिस वालों पर भी नजर : गुप्तेश्वर पाण्डेय

;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

यूथ ब्रिगेड रखेगा शराब की तस्करी में शामिल पुलिस वालों पर भी नजर : गुप्तेश्वर पाण्डेय

सिटी पोस्ट लाइव : शराबबंदी को अपनी कमाई का अवैध जरिया बनानेवाले पुलिसकर्मियों पर अब यूथ ब्रिगेड नजर रखेगा. बिहार में शराबबंदी को सफल बनाने और नशामुक्त बिहार बनाने के लिए जन-जागरण अभियान चला रहे बीएमपी के महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने आज मुजफ्फरपुर में कहा कि शराब माफिया से तालमेल करनेवाले पुलिसकर्मियों पर अब उनका यूथ ब्रिगेड नजर रखेगा. शराबबंदी को सफल बनाने के जन-जागरण अभियान में जुटे बीएमपी के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि शराबबंदी एक ऐतिहासिक फैसला है. यह सीधे युवाओं के भविष्य से जुड़ा है. इसे सफल बनाने के लिए जनता की सहभागिता बेहद जरूरी है.

इस जन-जागरण अभियान के तहत आज मुजफ्फरपुर पहुंचे श्री गुप्तेश्वर पाण्डेय ने कहा कि लोगों को इस अभियान से जोड़ने के लिए बिहार सैन्य पुलिस बल की तरफ से राज्य में 500 जन जागरण सभाओं का आयोजन किया जा चूका है.इस दौरान खबरा हाइवे स्थित एक भवन में आयोजित जन जागरण के सभा को संबोधित करते हुए पांडेय ने कहा कि नशाबंदी को सफल बनाने के लिए वे हर जिले में यूथ ब्रिगेड बना रहे हैं. इस यूथ ब्रिगेड में 100 से लेकर 200 युवा शामिल होगें. ये युवा शराब के कारोबारियों के साथ-साथ वैसे पुलिस कर्मियों पर भी नजर रखेगें, जो शराब के अवैध कारोबार से जुड़े हैं.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

उन्होंने कहा कि शराबबंदी से गरीब परिवार के लोगों को उजड़ने से बचाया गया है. इतना ही नहीं, इससे सामाजिक क्षेत्र में नया संचार पैदा हुआ है. उन्होंने कहा कि यह सभी लोग जानते हैं कि शराब के सेवन से व्यक्ति का दिमाग विचलित हो जाता है और उसका सीधा असर मन पर पड़ता है. उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति के वैभव की पूजा नहीं होती बल्कि चरित्र की पूजा होती है.उन्होंने शराबबंदी कानून के दायरे को बताते हुए कहा कि इसमें ऐसे प्रावधान भी किये गये है कि व्यक्ति चाहे जितना बड़ा हो, उसे सजा अवश्य मिलेगी.

कार्यक्रम के दौरान मुजफ्फरपुर एसएसपी मनोज कुमार ने भी लोगों से नशामुक्त समाज बनाने की अपील की. मौके पर सभी पुलिस पदाधिकारी सहित सैकड़ों से अधिक ग्रामीण मौजूद थे.लोगों ने कहा कि यूथ ब्रिगेड के डर से शराब माफिया और पुलिस की मिलीभगत से होनेवाली शराब की तस्करी में कमी आई है.अब हर नौजवान पुलिसवालों को यूथ ब्रिगेड का सदस्य नजर आता है.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.