By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तेजप्रताप-ऐश्वर्या प्रकरण : बेमेल शादी, दुःखद अंत की लिख रही पटकथा

Above Post Content
0

ऐश्वर्या उन्हें घर में अपनी बड़ी हैसियत साबित करने के लिए उन्हें उकसाती रही है और टार्चर करती रही है। वे एक शालीन और घरेलू पत्नी चाहते थे लेकिन ऐश्वर्या ठीक उससे उलट है।

Below Featured Image

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार के सबसे बड़े सियासी घराने लालू प्रसाद यादव के घर के भीतर अभी घमासान मचा हुआ है। बीते कल यानि 2 नवम्बर को ही अपने वकील यशपाल कुमार शर्मा के माध्यम से राबड़ी के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक के लिए कोर्ट में अर्जी दायर कर दी है। तेजप्रताप यादव ने पटना सिविल कोर्ट में अर्जी दायर कर दी है। इस मामले का केस नम्बर 1208/2018 है। यह अर्जी हिन्दू मैरेज एक्ट 13 (1) (1 A) के तहत प्रधान न्यायाधीश, परिवार न्यायालय उमाशंकर द्विवेदी की अदालत में दायर की गयी है जिसकी सुनवाई आगामी 29 नवम्बर को होगी। तलाक की अर्जी दायर करने के बाद तेजप्रताप अपने घर के लोगों से बचते-बचाते दिनभर इधर-उधर घूमते रहे। मीडिया ने भी बड़ी जोर-आजमाईश की लेकिन उन्होंने इस मसले पर कुछ भी नहीं बोला।

तेजप्रताप बीती देर रात तक अपने घर वापिस नहीं लौटे थे। विश्वस्त सूत्रों से कल मिली जानकारी के मुताबिक देर शाम ऐश्वर्या के माता-पिता राबड़ी यादव के आवास पर पहुंचे थे। इनलोगों ने मोबाइल पर तेजप्रताप से लंबी बातचीत की लेकिन तेजप्रताप किसी को इस मसले पर सुनने को तैयार नहीं थे। राबड़ी देवी, मीसा भारती और तेजस्वी यादव ने भी तेजप्रताप से बातें की लेकिन अभीतक उसका फलाफल सिफर निकला है। तेजप्रताप अब किसी भी सुलह और समझौते के मूड में नहीं हैं। बताना लाजिमी है कि तेजप्रताप की शादी बेहद शाही तरीके से इसी साल 12 मई को हुई थी। तेज प्रताप यादव की तरह ऐश्वर्या भी बड़े सियासी घराने से आती है। ऐश्वर्या के दादा दारोगा प्रसाद राय बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। यही नहीं ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय अभी राजद से विधायक हैं और महागठबंधन की सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं।

ऐश्वर्या बेहद खुले विचारों वाले परिवार से आती है और बचपन से आजाद जिंदगी जीने की आदी रही है। ऐश्वर्या ने दिल्ली के मिरांडा हाउस कॉलेज से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की है और अमेठी यूनिवर्सिटी से एमबीए किया है। इसी वर्ष 18 अप्रैल को पहले दोनों की सगाई हुई थी जिसमें झारखण्ड के जेल में बन्द लालू प्रसाद भी पैरोल पर शामिल हुए थे। फिर दोनों की शाही शादी 12 मई को सम्पन्न हुई थी। अब तेजप्रताप खुलकर मीडिया के सामने आ गए हैं और कह रहे हैं कि वे ऐश्वर्या से वे शादी के लिए तैयार नहीं थे लेकिन उन्हें मोहरे के तौर पर घरवालों ने दूल्हा बनने पर मजबूर किया। ऐश्वर्या का लाईफ स्टाईल बेहद हाई-फाई है, जो उनके संस्कार से मेल नहीं खा रहे हैं। महज इंटर पास तेजप्रताप जिस परिवेश में पले हैं, ऐश्वर्या की परवरिश ठीक उनसे विपरीत हुई है। हम आपको बीते चार माह के दौरान लालू परिवार के भीतर जो घटनाएं घटती रही हैं, उसपर भी आपका ध्यान आकृष्ट कराना चाहते हैं।

Also Read

तेजप्रताप और तेजस्वी के बीच कलह को मीडिया ने सुर्खियां बनाई थी। हालांकि उस विवाद पर सफाई भी खूब दिए गए थे। तेजप्रताप कृष्ण बनकर मथुरा, काशी और वृंदावन की सैर में लगे थे। यानि बीते चार माह से तेजप्रताप ऐश्वर्या से कटे-कटे से रहे हैं। तेजप्रताप ने मीडिया के सामने जोर देते हुए यह कहा है कि वे अपना दुःख माननीय न्यायालय के सामने परोसेंगे लेकिन कुछ दुःख उन्होंने मीडिया से भी साझा किए। उनकी मानें तो, घर में उनका सही सम्मान नहीं होता है। माता-पिता और घर के अन्य सदस्यों के बीच वे उपेक्षित रहते हैं। ऐश्वर्या उन्हें घर में अपनी बड़ी हैसियत साबित करने के लिए उन्हें उकसाती रही है और टार्चर करती रही है। वे एक शालीन और घरेलू पत्नी चाहते थे लेकिन ऐश्वर्या ठीक उससे उलट है।

हालांकि तेजप्रताप को मनाने का दौर अभी जारी है। तेजप्रताप लालू प्रसाद के आदेश पर उनसे मिलने रांची पहुंच चुके हैं। लालू प्रसाद तेजप्रताप के इस कदम से बेहद दुःखी हैं। अब तेजप्रताप अपने पिता की कितनी बातें मानेंगे, इसपर धुंध अभी बरकरार है। वैसे भी आधुनिक दौर में इंटर पास युवक को एमबीए करी हुई खूबसूरत बीबी मिले, तो तालमेल बिठाना बेहद मुश्किल है। भीतरखाने से यह भी जानकारी मिल रही है कि ऐश्वर्या के कई युवक दोस्त हैं, जिन्हें तेजप्रताप ना तो पसंद करते थे और ना ही उन्हें झेल पाते थे। तेजप्रताप के मित्रों की टोली और ऐश्वर्या के दोस्तों की फेहरिस्त की तुलना भी कहीं से जायज नहीं है। जानकारी यह भी मिल रही है कि बीते चार महीनों से तेजप्रताप और ऐश्वर्या अलग-अलग कमरों में सो रहे थे।

सूत्रों के मुताबिक ऐश्वर्या अपने पति को अपने तरीके से एक अलग सांचे में ढ़ालना चाहती थी जिसे तेजप्रताप पचा नहीं सके। अब तो वे मीडिया के सामने तेजप्रताप कह चुके हैं कि ऐश्वर्या से उनका किसी भी तरह से रिश्ता निभाना मुश्किल है। ऐश्वर्या उनकी राधा नहीं है।
अचानक राबड़ी और लालू परिवार में मचे इस गदर के राजनीतिक नुकसान के भी कयास लगाए जाने लगे हैं। राजनीतिक जानकार कह रहे हैं कि खेसारी लाल के मसले पर यादव सेना का तेजस्वी पर वार और यह घरेलू विवाद विरोधियों के लिए रामबाण और संजीवनी की तरह साबित होंगे। लालू प्रसाद की अनुपस्थिति में घर को संभालने के लिए कोई समर्थ बुजुर्ग नहीं हैं।

वैसे हमारे समाचार विश्लेषण का मकसद बेमेल शादी का आखिरकार क्या निकलेगा नतीजा है। आप जान लें कि तेजप्रताप को आसानी से तलाक नहीं मिलेंगा। बहुत सारे कानूनी दांव-पेंच से अभी उन्हें गुजरना होगा। लेकिन जबतक तलाक नहीं हो जाता, रिश्ते में आई खटास राजनीतिक दृष्टिकोण से राजद को बैकफुट पर लाकर खड़ा कर देगा। तेजप्रताप और ऐश्वर्या की शादी बिल्कुल बेमेल शादी थी जिसका नतीजा दुःखद होना पहले से तय था। तेजप्रताप वैसे भी सुघड़ व्यक्तित्व के नजरिये से कहीं से ओजस्वी नहीं हैं। ऐश्वर्या को भी रिश्ते संभालने के लिए फूंक-फूंक कर कदम रखने चाहिए थे। उसने भी जल्दबाजी कर दी। अब तो, सभी कुछ मान-मनोव्वल और कोर्ट पर निर्भर करता है।

पीटीएन न्यूज मीडिया ग्रुप के सीनियर एडिटर मुकेश कुमार सिंह 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More