By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पैन कार्ड और बैंकिंग नियमों में होने जा रहे हैं ये बड़े बदलाव, जान लीजिए नए नियम

;

- sponsored -

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने एक अधिसूचना जारी करते हुए इस बात की जानकारी दी है। नोटिफिकेशन में पैन कार्ड बनवाने के नियमों में बदलाव करते हुए नऐ नियम की जानकारी दी गई है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

पैन कार्ड और बैंकिंग नियमों में होने जा रहे हैं ये बड़े बदलाव, जान लीजिए नए नियम

सिटी पोस्ट लाइव : 1 दिसंबर से पैन कार्ड और नेटबैंकिंग सुविधाओं में कई बदलाव होने जा रहे हैं जिनका आप पर असर पड़ेगा। बता दें PAN (परमानेंट अकाउंट नंबर) कार्ड को लेकर एक बार फिर नई अधिसूचना जारी हुई है। इस अधिसूचना में नए नियम जारी किए गए हैं जो 5 दिसंबर से लागू होने जा रहे हैं। आयकर विभाग ने पैन कार्ड बनवाने के लिए अब आपको अपने पिता का नाम देना अनिवार्य नहीं होगा। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने एक अधिसूचना जारी करते हुए इस बात की जानकारी दी है। नोटिफिकेशन में पैन कार्ड बनवाने के नियमों में बदलाव करते हुए नऐ नियम की जानकारी दी गई है।

नए नियम के मुताबिक अगर कोई एक साल में 2.5 लाख रुपए से ज्यादा का ट्रांजैक्शन करता है तो उसके लिए पैन कार्ड बनवाना जरूरी है। अगर किसी बिजनेस संस्थान का सालाना कारोबार 5 लाख से ज्यादा है तो भी उसे पैन नंबर लेना होगा। इसके अलावा अब उस स्थिति में भी पैन लेना होगा जबकि कुल बिक्री-कारोबार-सकल प्राप्तियां एक वित्त वर्ष में पांच लाख रुपए से अधिक नहीं हों। वहीं  भारतीय स्टेट बैंक उन ग्राहकों की नेट बैंकिंग सेवा बंद कर देगी, जिन्होंने अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड नहीं करवाया है। यह सेवा बैंक द्वारा 1 दिसंबर से बंद कर दी जाएगी। देश के सबसे बड़े बैंक ने अपने ग्राहकों से 30 नवंबर तक मोबाइल नंबर रजिस्टर करवाने के लिए कहा था।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

SBI मोबाइल बेस्ट डिजिटल एप एसबीआई बडी (SBI Buddy) 1 दिसंबर से बंद करने जा रहा है। अगर आपने इस ऐप में कोई धनराशि छोड़ी हुई है तो उसे तुरंत निकाल लें। एसबीआई ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर इस बात का जानकारी दी है। बैंक ने अब अपना योनो ऐप लांच कर दिया है। इस ऐप में ही लोगों को अब वॉलेट की सुविधा दी जा रही है।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.