By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

कोरोना की वजह से कैंसल होने लगे मैरेज हॉल, होटल व बस बुकिंग.

कोरोना महामारी के कारण हजारों करोड़ का व्यवसाय चौपट, पिछले साल से भी बदतर हैं हालात.

HTML Code here
;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : कोरोना वायरस की दूसरी लहर का प्रकोप बिहार में बढ़ने लगा है. 21 अप्रैल से शुरू हो चुकी विवाह से जुड़े व्यवसाय संक्रमण की वजह से सबसे ज्यादा प्रभावित होने लगे हैंपहले बुक हो चुके मैरेज हॉल, होटल, बस, सांस्कृतिक कार्यक्रम, टेंट, बैंड-बाजा को लोग कैंसल कराने लगे हैं.कोरोना इफेक्ट के कारण हजारों लोगों ने बुकिंग कैंसल करा दिया है.कोरोना की वजह से शादी विवाह से कारोबार को सैकड़ों करोड़ का नुशान हो रहा है. पिछले साल कोरोना के कारण व्यवसायियों को करोड़ों रुपया का नुकसान हुआ था. इस बार कोरोना का प्रभाव जनवरी- फरवरी माह में कम होने से वे सभी उत्साहित थे. इसी उत्साह का नतीजा था, कि तेजी से हजारों लोगों के द्वारा शादी विवाह समेत अन्य कार्यक्रम को लेकर बुकिंग कराई गई थी.

बिहार सरकार द्वारा 15 मई तक सभी सार्वजनिक कार्यक्रम पर रोक, शादियों में डेढ़ सौ लोगों की संख्या तय और झारखंड में लॉकडाउन लगाने के कारण यह व्यवसाय पूरी तरह से 15 मई तक ठप हो गया है. इसके ठप होने से हजारों लोगों पर इसका कुप्रभाव पड़ने लगा है. सांस्कृतिक कार्यक्रम कराने वाले कई संचालकों ने बताया कि हम सभी से भी एडवांस दिए गए पैसे की डिमांड की जाने लगी है. वही हम सभी से जुड़े टेंट हाउस आदि के भी पैसे वापस मांगे जा रहे हैं.

शादियों के मौसम में गुलजार रहने वाले ये स्थान और व्यवसाय अब पूरी तरह से सन्नाटे में बदल चुका है. कई मामलों में पैसा वापस करने को ले विवाद भी बढ़ रहा है. कैंसिल कराने के बाद लोग पैसे की डिमांड कर रहे हैं. जबकि व्यवसाय कर रहे लोगों का कहना है कि वह तो पैसा निचले स्तर के कर्मचारियों को दे चुके हैं.बिहार के सैकड़ों मैरिज हॉल व होटल 21 अप्रैल से लेकर 15 मई तक फुल थे. शादी विवाह व अन्य कार्यक्रमों के लिए लोगों के द्वारा इनकी बुकिंग करा ली गई थी. जैसे ही बिहार सरकार के द्वारा 15 मई तक रोक और झारखंड में लॉकडाउन लगा सभी लोगों के द्वारा तय की गई बुकिंग को कैंसिल करा दिया गया है.

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.