By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पर्व त्योहारों को लेकर सभी ट्रेनें फुल, आसमान में भी शुरू हो चुकी लूट, एयर टिकेट चौगुना महंगा

त्योहारों के मौसम में हाउसफुल हुई ट्रेनें, विमानों का किराया भी आसमान पर

;

- sponsored -

पर्व त्योहारों को लेकर सभी ट्रेनें फुल, आसमान में भी शुरू हो चुकी लूट, एयर टिकेट चौगुना महंगा .रेलवे के द्वारा कई विशेष ट्रेनें चलाये जाने की घोषणा के वावजूद किसी भी ट्रेन में बर्थ उपलब्ध नहीं है. ट्रेन फुल है इसलिए अब आसमना में भी लूट शुरू हो गई है. यानी हवाज जहाज का किराया भी आसमान छूने लगा है.

-sponsored-

-sponsored-

पर्व त्योहारों को लेकर सभी ट्रेनें फुल, आसमान में भी शुरू हो चुकी लूट, एयर टिकेट चौगुना महंगा

सिटी पोस्ट लाइव : पर्व त्यौहार का मौसम आ गया है. अक्टूबर से नवम्बर महीने के बीच दशहरा -दीपावली और लोक आस्था का महँ पर्व छठ पूजा का आयोजन होता है. ईन त्योहारों की वजह से बिहार से बाहर रह रहे लोगों का घर पहुंचना बेहद मुश्किल हो जाता है. रेलवे के द्वारा कई विशेष ट्रेनें चलाये जाने की घोषणा के बावजूद किसी भी ट्रेन में बर्थ उपलब्ध नहीं है. ट्रेन फुल है इसलिए अब आसमना में भी लूट शुरू हो गई है. यानी हवाई जहाज का किराया भी आसमान छूने लगा है. अक्सर पटना से दिल्ली या फिर दिल्ली से पटना का किराया 35 00 से 45 00 के बीच होती है. लेकिन पर्व त्यौहार आते ही हवाई जहाज का यह किराया 10000 से लेकर 22000 रुपये तक पहुँच जाता है.

बिहार से बाहर जाकर दूसरे शहरों में व्यापार अथवा नौकरी पेशे करने वाले करीब एक करोड़ से अधिक लोग इन त्योहारों के अवसर पर बिहार लौटते हैं. यही कारण है कि ये लोग चार माह पहले से अपना टिकट आरक्षित करवा लेंते हैं. लखों लोगों को लम्बी वेंटिंग लिस्ट का टिकट मिला है. वहीं यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे की ओर से करीब दो दर्जन से अधिक पूजा स्पेशल ट्रेनों के परिचालन किए जाने की भी संभावना है. लेकिन फिलहाल अन्य ट्रेनें हाउसफुल चल रहीं हैं. बिहार आने वाली ट्रेनें दशहरा के पहले से हीं हाउसफुल होने लगी हैं.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

अगर नवंबर में परिचालित होने वाली ट्रेनो की करें तो अधिकाँश  प्रमुख ट्रेनों में बर्थ उपलब्ध नहीं है. चाहे दिल्ली से पटना आना हो या फिर मुंबई अथवा बेंगलुरु से पटना आना हो, तमाम प्रमुख शहरों से बिहार के लिए खुलने वाली सभी प्रमुख ट्रेनें पूजा को लेकर हाउसफुल हो चली हैं. वहीं एक ओर जहां ट्रेनों में हाउसफुल के कारण की बुकिंग समाप्त हा चुकी है.ट्रेनों के फुल होते ही विमानों का किराया भी आसमान छूने लगा है.

दिल्ली-पटना की ट्रेनों में आरक्षण की स्थिति

112392 श्रमजीवी एक्सझझ हाउसफुल

112394 संपूर्णक्रांति एक्स हाउसफुल

112424 गुवाहाटी राजधानी फुल

112310 पटना राजधानी हाउसफुल

112402 मगध एक्स हाउसफुल

115484 महानंदा एक्स हाउसफुल

122406 गरीब रथ एक्स हाउसफुल

112304 पूर्वा एक्सप्रेस हाउसफुल

120502 अगरतला राजधानी फुल

113414 फरक्का एक्सप्रेस हाउसफुल

1114056 ब्रतपुत्र एक्सप्रेस हाउसफुल

112502 संपर्क क्रांति हाउसफुल

112506 नार्थइस्ट एक्सप्रेस हाउसफुल

113008 तूफान एक्स हाउसफुल

112488 सीमांचल एक्सपगेस हाउसफुल

मुंबई से पटना आनेवाली ट्रेनों में भी ठसाठस भीड़

115645 दादर गुवाहाटी हाउसफुल

112362 आसनसोल एक्स हाउसफुल

113202 कुर्ला एक्सप्रेस  हाउसफुल

112141 एलटीटी एक्स हाउसफुल

112149 पुणो एक्सप्रेस  हाउसफुल

112741 वास्कोडिगामा  हाउसफुल

112295 संघमित्र एक्स हाउसफुल

122644 एरनाकुलम  हाउसफुल

113240 कोटा एक्सप्रेस  हाउसफुल

विमानों का किराया भी आसमान पर

दिल्ली से पटना किराया 2500 से  पूजा को लेकर 11000 का आंकड़ा पार कर चुका है.जैसे जैसे पूजा का समय करीब आएगा यह किराया 20000 से भी ऊपर पहुँच जाएगा. मुंबई से पटना का विमान से आने पर किराया 7500 से बढ़कर 14000  तक पहुँच चूका है. बेंगलुरु से पटना का किराया भी 7500 तक पहुंच चुका है. पुणो से पटना का किराया  12500 तक पहुंच चुका है. नवंबर में विमान किराये की स्थिति पर गोर करें तो दिल्ली से पटना का किराया 11000, पटना से दिल्ली 7500, मुंबई से पटना 14000, पटना से मुंबई के लिए 12500, बंगलुरु से पटना के लिए 8000, पटना से बंगलुरु 9500, हैदराबाद से पटना के लिए 11500 पटना से हैदराबाद के लिए 10500, पुणे से पटना 12500, पटना से पुणे झझ 12500 और चेन्नई से पटना के लिए 11500  तक का एयर टिकेट हो चूका है. यानी डेढ़ महीने के अन्दर विमान कंपनियां लोगों की मज़बूरी का फायदा उठाकर 6 महीने की कमाई डेढ़ महीने में कर लेने की रणनीति पर काम कर रही हैं.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.