By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

25 मई से उड़ने लगेगा पटना, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ शुरू होगी पहली उड़ान

;

- sponsored -

25 मई को पटना एअरपोर्ट से ( Jai Prakash Narayan International Airport) से विमानों की  उड़ान शुरू हो जाएगी. एयरपोर्ट अथॉरिटी के अनुसार इसको लेकर तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. यहां से ट्रेवल करने वाले यात्रियों के लिए विशेष गाइडलाइन भी जारी की गई है.

-sponsored-

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : 25 मई को पटना एअरपोर्ट से ( Jai Prakash Narayan International Airport) से विमानों की  उड़ान शुरू हो जाएगी. एयरपोर्ट अथॉरिटी के अनुसार इसको लेकर तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. यहां से ट्रेवल करने वाले यात्रियों के लिए विशेष गाइडलाइन भी जारी की गई है. यात्रियों के लिए मास्क और गल्बस जहां अनिवार्य है. आरोग्य सेतु एप  (Aarogya Setu app) भी फोन में होना आवश्यक है. हालांकि 14 साल के कम के बच्चों के लिए ये जरूरी नहीं है.

पटना एयरपोर्ट के डायरेक्टर बीसीएच नेगी (BCH Negi, director of Patna Airport) का कहना है कोविड-19 को देखते हुए पटना एयरपोर्ट का संचालन दो महीने तक बंद रहा और अब हम एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के निर्देशों का पालन करते हुए फिर से उड़ान भरने को तैयार हैं.बीसीएच नेगी ने कहा कि इसके लिए हमने सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने से लेकर जगह-जगह सेनेटाइजिंग पैनल बनाया है.सुरक्षा चेकिंग हो या फिर इंट्री पर आईडी चेक या टिकेट चेंकिग सबको कांटेक्टलेस बना दिया है. यानी जो चेकिंग आपके आइडेंटिफिकेशन कार्ड की सिक्यूरिटी करती थी वो अब एलईडी स्क्रीन से होगी.

नेगी ने कहा कि हमने पटना एयरपोर्ट से उड़ने वाली फ्लाइट की क्षमता 70 प्रतिशत कम कर दी है, यानी पहले की तुलना में महज 30 प्रतिशत फ्लाइट ही उड़ान भरेंगी. कोरोना के पहले तक पटना एयरपोर्ट से रोजाना 51 फ्लाई रवाना हो रही थी. पटना एयरपोर्ट डायरेक्टर कहते हैं हमारी प्राथमिकता है यात्रियों को सेफ फील करा पाना ताकि वो यात्रा करने में घबराए नहीं. सबसे पहले जब यात्री आएंगें तो उनके बैग को सेनेटाइज किया जाएगा. फिजिकल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए बनाए गए घेरे में उन्हें फिर लाइन में लगना होगा. सेनेटाइजर पैनल से उन्हें अपना हाथ सेनेटाइज करना होगा फिर उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी. जिसके बाद उन्हें अंदर जाने की अनुमति होगी.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

सिक्यूरिटी चेक कि जगह वेब कैमरे पर लोगों को अपना पहचान पत्र और ई-टिकट दिखाना होगा  जिसकी जांच स्क्रीन पर ही दूसरी और बैठा सेक्यूरिटी पर्सन कर लेगा. अंदर जाने के बाद भी सोशल डिस्टेंसिग का ख्याल रखते हुए घेरे बनाए गए हैं. यात्रियों को उसी में खड़ा होना होगा. अंदर बैठने कि जगह के बीच में भी गैप दिया गया है ताकि लोग आस-पास ना बैठें.

पटना एयरपोर्ट के डायरेक्टर ने कहा एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सारे गाइडलाइन्स का पटना एयरपोर्ट पर पालन किया जा रहा है. हमारी कोशिश है कांटेक्ट लेस और सेफ ट्रेवेल यात्री कर पाएं. उनकी सेफ्टी हमारी प्राथमिकता है. आगे जैसे-जैसे गाइडलाइंस आएंगे हम अपने यात्रियों को इसकी जानकारी देंगे.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.