By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

“सरकारी विशेष” : राशन के लिए जरूरी है राशन कार्ड का आधार से लिंक होना

- sponsored -

सरकार राशन कार्डधारियों को ससमय राशन मिल सके,इसके लिए राशन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कराना आवश्यक कर दिया है। इसके लिए डीलरों को शख्त निर्देश दिए गए हैं कि लाभुकों के राशन कार्ड को वे आधार कार्ड से लिंक करवाएं।

-sponsored-

“सरकारी विशेष” : राशन के लिए जरूरी है राशन कार्ड का आधार से लिंक होना

सिटी पोस्ट लाइव : सरकार राशन कार्डधारियों को ससमय राशन मिल सके, इसके लिए राशन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कराना आवश्यक कर दिया है। इसके लिए डीलरों को शख्त निर्देश दिए गए हैं कि लाभुकों के राशन कार्ड को वे आधार कार्ड से लिंक करवाएं।जिला प्रशासन ने लाभुकों और डीलरों को आखिरी बार एक सप्ताह का समय दिया है। इस अवधि में जिनके राशन कार्ड, आधार से लिंक नहीं हुए हैं, उन्हें लिंक कराना अत्यावश्यक है। अगर जो राशन कार्ड, आधार कार्ड से लिंक होने से छूट जाएंगे, उन्हें अगले दिसम्बर माह में पीओएस मशीन पर एंट्री नहीं हो पाने की स्थिति में, खाद्यान से वंचित होना पड़ेगा। आधार से राशन कार्ड के लिंक होने पर उसे पीओएस मशीन में एंट्री किया जाएगा। इसी कड़ी में आज राशनकार्ड को आधार से जोड़ने के लिये सोनवर्षा राज प्रखंड कार्यालय के अधिकारी और कर्मी के द्वारा शाहपुर पंचायत के महादलित टोले में जाकर लाभुकों को आधार कार्ड बनाने और उसे राशन कार्ड से लिंक कराने के लिए प्रेरित किया गया।

अगले कुछ दिनों तक माइकिंग द्वारा व्यापक स्तर पर लाभुकों के बीच प्रचार-प्रसार कर आधार सीडिंग के प्रतिशत में ईजाफा किया जाएगा ताकि विभाग द्वारा प्राप्त आदेश का अनुपालन अक्षरशः किया जा सके। इस काम में प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी उपेंद्र तिवारी और कार्यपालक सहायक चंदन सिंह, जाड़े के इस मौसम में खूब पसीने बहा रहे हैं। पूछने पर उपेंद्र तिवारी और चंदन सिंह ने समवेत कहा कि समय सीमा के अंदर वे सरकार और विभागीय निर्देश का सौ में सौ प्रतिशत रिजल्ट देंगे। इस काम में वे सभी चाह रहे हैं कि किसी भी सूरत में एक भी लाभुक नहीं छूटें। इसके लिए डीलरों को भी साथ में रखा जा रहा है ।एक बड़ी समस्या यह आ रही है कि बहुत सारे राशन कार्डधारियों के आधार कार्ड अभीतक नहीं बन सके हैं।

Also Read

-sponsored-

इस वजह से उन्हें दोहरी और तिहरी मेहनत करनी पड़ रही है। कार्यपालक सहायक चंदन सिंह ने बताया कि वे समय से पहले ऑफिस आते हैं और देर शाम घर वापिस लौटते हैं लेकिन काम का बोझ कम नहीं हो रहा है। रात्रि में भी वे घर पर काम निपटाते हैं।चंदन सिंह ने कहा कि काम का काफी बोझ है लेकिन उन्होंने यह तय कर लिया है कि वे किसी भी गरीब को उनके हक से महरूम नहीं होने देंगे। सदर एसडीओ शम्भूनाथ झा ने बताया कि सुधार का यह आखिरी चरण है और सभी सम्बद्ध प्रखंडकर्मियों और डीलरों की अग्नि परीक्षा है। सरकारी निर्देश की अवहेलना,वे किसी भी सूरत में बर्दास्त नहीं करेंगे। सिमरी बख्तियारपुर एसडीओ भी अपने मातहत के प्रखंड में अभियान चला रहे हैं।

पीटीएन मीडिया के मैनेजिंग एडिटर मुकेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.