By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

कोरोना : जोधपुर सेंट्रल जेल में आसाराम बापू सहित सभी कैदियों ने शुरू की भूख हड़ताल

;

- sponsored -

कोरोना वायरस को डब्ल्यूएचओ ने वैश्विक महामारी घोषित कर दिया है ।केंद्र सरकार ने भारत के सभी राज्यों को लॉक डाउन कर दिया है ।कुछ राज्यों में तो कर्फ्यू लगा दिया गया है ।इस गम्भीर और विकट परिस्थिति में,कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं फैले,इसलिए राजस्थान के जोधपुर सेंट्रल जेल में कैदियों ने कोरोना वायरस के डर से भूख हड़ताल शुरू कर दी है ।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

कोरोना : जोधपुर सेंट्रल जेल में आसाराम बापू सहित सभी कैदियों ने शुरू की भूख हड़ताल

सिटी पोस्ट लाइव : कोरोना वायरस को डब्ल्यूएचओ ने वैश्विक महामारी घोषित कर दिया है ।केंद्र सरकार ने भारत के सभी राज्यों को लॉक डाउन कर दिया है ।कुछ राज्यों में तो कर्फ्यू लगा दिया गया है ।इस गम्भीर और विकट परिस्थिति में,कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं फैले,इसलिए राजस्थान के जोधपुर सेंट्रल जेल में कैदियों ने कोरोना वायरस के डर से भूख हड़ताल शुरू कर दी है ।

जोधपुर सेंट्रल जेल में इस समय 1375 कैदी सजायाफ्ता और ट्रायल वाले मौजूद हैं ।कोरोना वायरस का संक्रमण और महामारी को देखते हुए कुछ एक कैदियों को छोड़कर,आज सभी कैदियों ने आसाराम बापू के नेतृत्व में सेंट्रल जेल में भूख हड़ताल शुरू कर दी है। आज सुबह सेंटर जेल में खाना बनाया गया लेकिन किसी भी कैदी ने खाना नहीं खाया है ।सभी कैदी मांग कर रहे हैं कि इस महामारी में उन्हें छोड़ दिया जाए ।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

हांलांकि इस मसले को लेकर राज्य सरकार ने जोधपुर सेंट्रल जेल से कैदियों के बारे में जानकारी मांगी है ।जोधपुर सेंट्रल जेल प्रशासन ने अपनी ओर से किन कैदियों को पेरोल पर छोड़ा जा सकता है,की लिस्ट तैयार कर ली है ।इस लिस्ट को राज्य सरकार के पास भेजे जाने की तैयारी की जा रही है ।उसके बाद राज्य सरकार तय करेगी कि कौन-कौन से कैदी को पेरोल पर भेजना है या किसकी सजा माफ करके छोड़ा जाना है ।जोधपुर सेंट्रल जेल में कई कुख्यात,हत्यारे और नामी अपराधी सजा भुगत रहे हैं या उनकी ट्राई चल रही है । उसमें खास तौर पर आसाराम बापू,भंवरी देवी अपहरण और हत्याकांड के मामले में पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा सहित कई अन्य खूंखार कैदी हैं ।ये सभी भूख हड़ताल पर हैं ।

यह सही है कि सभी राज्यों की सरकार,इस वैश्विक महामारी के संक्रमण को देखते हुए,कैदियों की रिहाई पर विचार कर रही है ।ऐसे में आशाराम बापू को भी जेल से निकलने की आस जगी है और उन्होंने भूख हड़ताल की शुरुआत कर के अपनी मंसा और ईच्छा जाहिर कर दी है ।

सिटी पोस्ट लाइव के मैनेजिंग एडिटर मुकेश कुमार सिंह की स्पेशल रिपोर्ट

;

-sponsored-

Comments are closed.