By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

गुजरात में फिर से बिहारियों पर हो गया है हमला, दी गई है शहर छोड़ने की धमकी

Above Post Content

- sponsored -

बिहार के गया जिले के रहने वाले अमरजीत कुमार की मौत का मामला ठंडा नहीं हुआ था कि फिर से बिहारियों पर हमला शुरू हो गया है. एकबार फिर से बिहारियों के साथ मारपीट की गई है. सभी को शहर छोड़ने की धमकी दी गई है.

Below Featured Image

-sponsored-

गुजरात में फिर से बिहारियों पर हो गया है हमला, दी गई है शहर छोड़ने की धमकी

सिटी पोस्ट लाइव :गुजरात से फिर से बिहारियों पर हमले की खबर आ रही है. अभी बिहार के गया जिले के रहने वाले अमरजीत कुमार की मौत का मामला ठंडा नहीं हुआ था कि फिर से बिहारियों पर हमला शुरू हो गया है. एकबार फिर से बिहारियों के साथ मारपीट की गई है. सभी को शहर छोड़ने की धमकी दी गई है. दरअसल ताजा मामला गुजरात के वडोदरा से सामने आया है. बताया जा रहा है कि बिहार के सात लोगों पर हमला हुआ है. जबकि पुलिस पीड़ितों के दावे को नकार रही है. इन पर तीन लोगों ने हमला किया था. बताया जा रहा है कि बिहार के एक सिविल इंजिनियर और छह प्लंबरों पर सोमवार रात को काम कर रहे स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया.

सिविल इंजिनियर समेत बाकी सभी लोग बिहार के मधूबनी जिले के रहने वाले हैं. पुलिस ने मंगलवार को हमले के तीन अरोपियों में से एक कयूर परमार को गिरफ्तार कर लिया. खबरों के अनुसार, वडोदरा नगर निगम के एक प्राथमिक विद्यालय के कंस्ट्रक्शन साइट पर सिविल इंजिनियर शत्रुघ्न यादव और छह प्लंबर काम कर रहे थे. सोमवार की शाम को जब इंजिनियर और अन्य 6 लोग बिल्डिंग के बाहर ही बैठे थे. तभी परमार सहित तीन अन्य लोग आ गए. उन्होंने उनके पहनावे के बारे में पूछताछ की. पहनावे के बारे में बताते ही तीनों आरोपियों ने यादव और अन्य लोगों के साथ हाथापाई शुरू कर दी. जिसमें सभी को चोटें आई हैं.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

जिस तरह से गुजरात में बिहारियों पर हमला रुकने का नाम नहीं ले रहा है आरजेडी नेता रघुवंश सिंह ने बिहारियों से गुजरात से वापस बिहार लौट जाने की अपील की है. रघुवंश सिंह ने कहा कि जिन बिहारियों की मेहनत की वजह से गुजरात आज चमक दमक रहा है, वह बिहारियों के वापस लौटते ही बर्बाद हो जाएगा. उन्होंने कहा कि अब बिहारियों को इंतज़ार किये वगैर वापस अपने प्रदेश लौट जाना चाहिए या फिर किसी दूसरे राज्य में जाकर काम करना चाहिए, जहाँ उनके श्रम को सम्मान मिले.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.