By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

कोरोना वायरस ने फैलाया 11 राष्ट्रों में दहशत, बिहार में 4 मरीज पाए गए

Above Post Content

- sponsored -

चीन में फैल रहा जानलेवा 2019-एनसीओवी कोरोना वायरस से अब तक 80 मौतें हो चुकी है. 11 राष्ट्रों में दशहत फैला चुके इस वायरस की दहशत उत्तर प्रदेश व बिहार के बाद अब दिल्ली तक भी पहुंच गई है. कोरोना वायरस संक्रमण की संभावना में तीन लोगों को आरएमएल अस्पताल के अलग वॉर्ड में निगरानी में रखा गया है.

Below Featured Image

-sponsored-

कोरोना वायरस ने फैलाया 11 राष्ट्रों में दहशत, बिहार में 4 मरीज पाए गए

सिटी पोस्ट लाइव : चीन में फैल रहा जानलेवा 2019-एनसीओवी कोरोना वायरस से अब तक 80 मौतें हो चुकी है. 11 राष्ट्रों में दशहत फैला चुके इस वायरस की दहशत उत्तर प्रदेश व बिहार के बाद अब दिल्ली तक भी पहुंच गई है. कोरोना वायरस संक्रमण की संभावना में तीन लोगों को आरएमएल अस्पताल के अलग वॉर्ड में निगरानी में रखा गया है. बता दें बिहार से कोरोना वायरस के चार जबकि यूपी से एक संदिग्ध मरीज मिला है. इनमें चाइना से 22 जनवरी को लौटी सारण जिले की मेडिकल छात्रा भी शामिल है.

चाइना के तिआन्जिन प्रांत से छपरा आई शोध छात्रा को पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल के एकांत वार्ड में भर्ती कराया गया है. इसके अतिरिक्त दो संदिग्ध सीतामढ़ी व एक मुजफ्फरपुर का निवासी है. मुजफ्फरपुर निवासी संदिग्ध का चाइना से लौटने के बाद दिल्ली में उपचार चल रहा है. वहीं, सीतामढ़ी निवासी एक अन्य मरीज अभी चाइना में ही है. वहीं, यूपी के महराजगंज के एक विद्यार्थी चाइना से घर वापस आया व शनिवार देर रात ऑफिसर जाँच के लिए उसे जिला अस्पताल ले आए. उसे एकांत वार्ड में निगरानी में रखा गया है.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

बताते चलें चीन में राष्ट्रीय महामारी घोषित हो चुके कोरोना वायरस के मद्देनजर सरकार ने वन्यजीवों के व्यापार पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया हैै. अधिकारियों ने कहा, वन्यजीवों की बिक्री पर प्रतिबंध तत्काल रूप से प्रभावी होगा और इस राष्ट्रीय महामारी का पूर्ण रूप से रोकथाम जारी रहेगा. तीन सरकारी एजेंसियों ने बताया कि वन्यजीव प्रजनन केंद्रों को अलग-अलग किया जाएगा, नियमों को सख्ती से लागू किया जाएगा और लोगों को जानवरों के मांस को नहीं खाने की चेतावनी दी गयी है. उल्लेखनीय है कि चीन में 2700 कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज प्रकाश में आये है, जबकि 771 लोगों में इस संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है.

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.