By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

हथियार रैकेट में बड़े नेता-अफसर के शामिल होने का खुलासा, IAS के घर CBI का छापा

जम्मू-कश्मीर समेत देश के कई हिस्सों में CBI का छापा, IAS ऑफिसर के आवास से 40 लाख बरामद,

Above Post Content

- sponsored -

सीबीआई ने जम्मू- कश्मीर में गन रैकेट का खुलासा कर दिया है.सीबीआई ने आज जम्मू-कश्मीर समेत देश के कई हिस्सों में अधिकारियों के ठिकानों पर छापेमारी की है.

Below Featured Image

-sponsored-

हथियार रैकेट में बड़े नेता-अफसर के शामिल होने का खुलासा, IAS के घर CBI का छापा.

सिटी पोस्ट लाइव :  सीबीआई ने जम्मू- कश्मीर में गन रैकेट का खुलासा कर दिया है.सीबीआई ने आज जम्मू-कश्मीर समेत देश के कई हिस्सों में अधिकारियों के ठिकानों पर छापेमारी की है. सीबीआई ने इस मामले में डीसी कुपवाड़ा रहे आईएएस राजीव रंजन फिर , IAS यशा मुदगिल  तत्कालीन डीएम बारामूला और उधमपुर,डीएम कुपवाड़ा रहीं इरत हुसैन, डीएम किश्तवाड़ रहे सेलेम मोहम्मद, तत्कालीन डीएम किश्तवाड़ और सोपिया रहे मोहद जावेद खान, तत्कालीन डीएम राजौरी एफसी भगत, तत्कालीन डीएम डोडा फिरोज अहमद खान  और डीएम पुलवामा रहे जहाँगीर अहमद मीर के यहां छापे मारे हैं.

गौरतलब है कि केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद जम्मू और कश्मीर में सीबीआई की यह पहली बड़ी कार्रवाई है. सीबीआई ने कहा है कि इस मामले में स्थानीय नेताओं की संलिप्तता से इनकार नहीं किया जा सकता है. खबर के अनुसार सीबीआई ने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम में जम्मू और कश्मीर के अधिकारियों की भी जांच होनी है.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

गौरतलब है कि चंडीगढ़ स्थित सीबीआई दफ्तर ने रणबीर पिनल कोड, 3/25 आर्म्स एक्ट, भ्रष्टाचार निरोधक विशेष धाराओं के तहत केस दर्ज किया. इसी साल नवंबर महीने में इस घोटाले का पर्दाफाश किया गया था. केस के अनुसार वर्ष 2012 से 2016 तक जम्मू कश्मीर के डोडा, रामबन, उधमपुर जिले से 1 लाख 43 हजार लाइसेंस जारी किए गए. पूरे राज्य से 4 लाख 29 हजार के करीब लाइसेंस जारी हुए. गुड़गांव से आईएएस अधिकारी के घर छापे के दौरान 40 लाख रुपये भी जब्त किए गए. मामला अन्य राज्यों तक फैला होने के कारण राज्य गृह विभाग ने भी केस को सीबीआई के हवाले करने की सिफारिश की थी.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.