By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

अयोध्या भूमि विवाद पर फैसला आने से पहले मायावती ने लोगों से क्या कहा?

- sponsored -

0

देश के प्रमुख राजनैतिक दल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना और भारत के प्रधान न्यायाधीश के दफ्तर में सूचना का अधिकार लागू होने जैसे सभी पांच खास मामलों पर अगले पांच दिनों के अन्दर फैसला आ सकता है.

-sponsored-

अयोध्या भूमि विवाद पर फैसला आने से पहले मायावती ने लोगों से क्या कहा?

सिटी पोस्ट लाइव : अयोध्या भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी होने के बाद हर किसी को आने वाले फैसले का इंतजार है. सूत्रों के अनुसार  राम जन्मभूमि के साथ साथ सबरीमाला मंदिर में दस से पचास वर्ष की महिलाओं के प्रवेश का मामला, राफेल लड़ाकू विमान सौदा, देश के प्रमुख राजनैतिक दल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना और भारत के प्रधान न्यायाधीश के दफ्तर में सूचना का अधिकार लागू होने जैसे सभी पांच खास मामलों पर अगले पांच दिनों के अन्दर फैसला आ सकता है.

इसे लेकर दोनों पक्ष के नेताओं की तरफ से लोगों से अपील की जा रही है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला जो भी हो उसका सम्मान करें और शांति बनाए रखें. वहीं, सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले अयोध्या को छावनी में तब्दील कर दिया गया है, भारी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है. वहीँ फैसला आने से पहले बसपा प्रमुख मायावती का बयान आया है. बसपा प्रमुख ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. मायावती ने अयोध्या मामले पर ट्वीट किया, ‘अयोध्या प्रकरण के सम्बंध में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आजकल में ही आने की संभावना है जिसको लेकर जनमानस में बेचैनी व विभिन्न आशंकाएं स्वाभाविक हैं.

Also Read

-sponsored-

ऐसे में समस्त देशवासियों से विशेष अपील है कि वे कोर्ट के फैसले का हर हाल में सम्मान करें, यही देशहित व जनहित में सर्वोत्तम उपाय है. ‘मायावती ने एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा, ‘साथ ही, सत्ताधारी पार्टी व केन्द्र एवं राज्य सरकारों की भी यह संवैधानिक व कानूनी जिम्मेदारी बनती है कि वे इस खास मौके पर लोगों के जानमाल व मज़हब के सुरक्षा की हर प्रकार की गारण्टी सुनिश्चित करें और सामान्य जनजीवन को प्रभावित ना होने दें.

-sponsered-

-sponsored-

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More