By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

14 दिन की जगह अब 28 दिनों का होम क्वॉरेंटाइन, बुखार लगते ही घर से निकलने पर पाबंदी

;

- sponsored -

कोरोना वायरस का संक्रमण का खतरा तेजी से बढ़ता जा रहा है.भारत के करीब- करीब राज्यों में इस खूनी वायरस ने अपना कहर मचा रखा है.केंद्र सरकार के स्वास्थ्य विभाग के द्वारा प्रतिदिन गाइडलाइन जारी किए जा रहे हैं. राज्य सरकारें अपने हिसाब से इस संक्रमण को फैलने से रोकने की तैयारी कर रही है.

-sponsored-

-sponsored-

14 दिन की जगह अब 28 दिनों का होम क्वॉरेंटाइन, बुखार लगते ही घर से निकलने पर पाबंदी

सिटी पोस्ट लाइव : कोरोना वायरस का संक्रमण का खतरा तेजी से बढ़ता जा रहा है.भारत के करीब- करीब राज्यों में इस खूनी वायरस ने अपना कहर मचा रखा है.केंद्र सरकार के स्वास्थ्य विभाग के द्वारा प्रतिदिन गाइडलाइन जारी किए जा रहे हैं.राज्य सरकारें अपने हिसाब से इस संक्रमण को फैलने से रोकने की तैयारी कर रही है. राज्य सरकार ने अब अन्य राज्यों से आने वाले लोगों को 14 दिन की जगह 28 दिन तक होम क्वॉरेंटाइन में रखे जाने का फैसला लिया है.

उड़ीसा सरकार ने कोरोना को लेकर बड़ा फैसला लिया है.गवर्नमेंट के एनआरएचएम की निर्देशिका श्रीमती शालिनी पंडित ने बताया है कि जो भी व्यक्ति विदेश या फिर अन्य राज्य से पिछले 14 दिन में लौटा है,उसे अपने घर में ही 28 दिन क्वॉरेंटाइन में रहना होगा. उन्होंने यह भी बताया है कि अगर किसी व्यक्ति को स्वास्थ्य संबंधित समस्या होता है तो उस परिस्थिति में वह सरकार के टोल फ्री नंबर 104 पर सलाह ले सकता है. ठंडा बुखार होने पर आवश्यकता अनुसार उन्हें एंबुलेंस भेजकर अस्पताल भी ले आया जाएगा. उड़ीसा  सरकार की तरफ से यह भी कहा गया है कि 28 दिन तक होम क्वॉरेंटाइन में रहने के दौरान संबंधित व्यक्ति अपने परिवार के सदस्य से भी 1 मीटर की दूरी बना कर रहे तो अच्छा होगा.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

14 दिन की होम   क्वॉरेंटाइन की समय-सीमा खत्म होने के बाद 14 दिन फिर से घर में रहकर अपने स्वास्थ्य का आकलन करना होगा.अगर इस दौरान किसी भी तरह की स्वास्थ्य संबंधित समस्या आती है तो उन्हें घर से बाहर निकलने के बजाय टोल फ्री नंबर पर फोन कर सलाह लेना होगा. इस स्थिति में कोविड-19 का परीक्षण भी कराना होगा ।यदि संबंधित व्यक्ति में कोविड-19 पॉजिटिव पाया जाएगा तो उस व्यक्ति को राज्य सरकार विशेष कोविड-19 या फिर सरकारी मेडिकल में बनाए गए कोविड-19 कर मुफ्त इलाज करेगी. वहीं अगर परिणाम नेगेटिव आता है तो रिपोर्ट उसके घर भेज दिए जाएगा.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.