By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

अब भारत के सड़क-बांध निर्माण के विरोध में नेपाल ने भेजा डिप्लोमेटिक नोट.

;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव :चीन की शाह पर भारत के खिलाफ अभियान चला रहे नेपाल ने अब भारत के सड़क और बाधों के बनाने पर आपत्ति जताई है. नेपाल ने तर्क दिया है कि भारत के सड़क और बांध बनाने से उसके क्षेत्र में बाढ़ की समस्या पैदा हो रही है. जबकि सच्चाई यह है कि नेपाल से आए पानी के कारण बिहार के कई हिस्से जलमग्न हैं. गंडक और कोसी नदी का पानी भी लगातार बढ़ रहा है.नेपाल के समाचारपत्र कांतिपुर के अनुसार, ओली सरकार ने भारत को बकायदा राजनयिक पत्र (डिप्लोमेटिक नोट) भेजकर सड़क और बांध निर्माण पर आपत्ति जताई है.

नेपाल के सिंचाई मंत्रालय के सचिव रवींद्र नाथ श्रेष्ठ के अनुसार  नेपाल विदेश मंत्रालय ने इस मामले में भारत को डिप्लोमेटिक नोट भेजकर आपत्ति जताई है. वहीं हर साल दोनों देशों के बीच होने वाले बाढ़ और जल प्रबंधन की संयुक्त समिति की बैठक को जल्द आयोजित करने की अपील की गई है. नेपाल के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता भरतराज पौड्याल ने कहा कि डिप्लोमेटिक नोट दोनों देशों के बीच किसी जरुरी मुद्दे को लेकर दिया जाता रहा है. इसमें कोई नई बात नहीं है. दोनों देश किसी भी मुद्दे को लेकर आपसी बातचीत के जरिए हल करने में सक्षम है.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.