By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

अब रेलवे जरूरत पड़ने पर हर स्टेशन से ट्रेन चलाने को है तैयार, माजरा क्या है?

;

- sponsored -

भारतीय रेलवे ने आज कई बड़े एलान किये हैं. भारतीय रेलवे ने आज ऐलान किया है कि जरूरत पड़ने पर हर स्टेशन से ट्रेनें चलाई जाएंगी. रेलवे के अनुसार लॉक डाउन की अवधि में फंसे हुए प्रवासी लोगों के लिए 2600 से ज्यादा श्रमिक अगले 10 दिनों में चलने के लिए तैयार हैं

-sponsored-

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : भारतीय रेलवे ने आज कई बड़े एलान किये हैं. भारतीय रेलवे ने आज ऐलान किया है कि जरूरत पड़ने पर हर स्टेशन से ट्रेनें चलाई जाएंगी. रेलवे के अनुसार लॉक डाउन की अवधि में फंसे हुए प्रवासी लोगों के लिए 2600 से ज्यादा श्रमिक अगले 10 दिनों में चलने के लिए तैयार हैं. कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन की वजह से इतिहास में पहली बार लंबे समय के लिए सभी ट्रेनों के संचालन पर रोक लगाई गई थी. अब धीरे धीरे फिर से रेल सेवा को बहाल करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं .

गौरतलब है कि रेलवे ने हाल ही में 200 ट्रेनों के दूसरे सेट की घोषणा की थी जो 1 जून से संचालित होने वाली हैं. रेल मंत्रालय ने फैसला किया है कि स्पेशल ट्रेन के अलावा 1 जून, 2020 से ट्रेन सेवाओं को आंशिक रूप से बहाल किया जाएगा. ये ट्रेनें 1 जून से चलेंगी और सभी की बुकिंग ये ट्रेनें 21 मई को सुबह 10 बजे से शुरू होंगी.

लेकिन सबसे बड़ा सवाल-अगर रेलवे ज्यादा से ज्यादा ट्रेनें चला देगा तो क्या संक्रमण का खतरा बहुत बढ़ नहीं जाएगा.क्या रेलवे वाहवाही लूटने के लिए ये सब कर रहा है या फिर बिहार चुनाव को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने ऐसा करने का निर्देश दिया है.ये चर्चा जोरों पर है कि ज्यादा से ज्यादा प्रवासियों को घर भेंज कर भारत सरकार वाहवाही लूटना चाहती है.लेकिन ज्यादा ट्रेनों के परिचालन से अगर एकसाथ चार पांच लाख प्रवासी मजदूर बिहार आ गए तो उन्हें बिहार सरकार कैसे संभालेगी?

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.