City Post Live
NEWS 24x7

बीमा भारती के सरकारी आवास में घुसी पुलिस.

बीमा भारती ने किया बवाल, कहा- बिना सूचना और वारंट के पुलिस उनके घर में घुस गई.

-sponsored-

-sponsored-

- Sponsored -

सिटी पोस्ट लाइव :पूर्णिया लोक सभा चुनाव हार जाने के बाद अब बीमा भारती गंभीर संकट में फंस गई हैं.  भवानीपुर में  दो जून को व्यवसायी गोपाल यादुका की दिनदहाड़े हुई हत्या का खुलासा पुलिस ने कर दिया है.आज दोपहर में पूर्णिया जिले की पांच पांच थाने की पुलिस पटना स्थित बिमा भारती के सरकारी आवास पर पहुँच गई.बिना रोकटोक के पुलिस बिमा भारती के ड्राइंग रूम इ घुस गई.घुसते ही पुलिस ने सवाल किया- कहाँ हैं अवधेश मंडल? बिमा भारती ने कहा-वो नहीं जानती आप लोग मेरे घर में कैसे और क्यों आ गए? आपके पास कोई वारंट है या फिर सर्च वारंट? पुलिसवाले सकते में आ गये क्योंकि उन्होंने वगैर किसी महिला सिपाही के एक पूर्व महिला विधायक के घर में घुसने की गलती की थी.

बीमा भारती के सवालों का जबाब देते पुलिस अधिकारियों को नहीं बन रहा था.बिमा भारती ने पुलिसवालों को बैरंग वापस जाने के लिए मजबूर कर दिया.गौरतलब है कि भवानीपुर पुलिस ने बीमा भारती के बेटे राजा कुमार के खिलाफ एक व्यवसाई की हत्या की सुपारी देने का मामला दर्ज किया है.पुलिस उसी मामले में अवधेश मंडल को उठाने पहुंची थी.दरअसल, आज सुबह 11 बजे बीमा भारती अवधेश मंडल के साथ तेजस्वी यादव से मिलने पहुंची थी. जैसे ही वो अपने आवास लौटी पुलिस धमक गई.

पुलिस ने इस मामले में एक शूटर व लाइनर को भी गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार बदमाशों ने पुलिस को यह भी बताया कि हत्या के बाद एक बासा पर राजा कुमार ने पार्टी भी दी थी और शूटरों को रुपये भी दिए थे. गिरफ्तार बदमाशों में बीकोठी थाना क्षेत्र के भतसारा गांव निवासी अनिरुद्ध यादव का पुत्र ब्रजेश कुमार यादव एवं भवानीपुर नगर पंचायत निवासी राजू यादव का पुत्र विकास कुमार यादव शामिल है.गिरफ्तार अपराधियों ने पुलिस अधिकारी के समक्ष अपना जुर्म कबूल कर लिया है. पुलिस ने इस संदर्भ में तकनीकी साक्ष्य भी जुटा लिए हैं.

धमदाहा एसडीपीओ संजीव गोल्डी के अनुसार  पूर्व विधायक के पुत्र का नाम इसमें सामने आया है. गिरफ्तार बदमाश विकास यादव ने पुलिस को बताया घटना के दिन वह और विशाल कुमार अपनी बाइक से व्यवसायी गोपाल यादुका के घर पहुंचे थे.उसने बताया कि इस दौरान उसके कई साथी घटनास्थल के इर्द-गिर्द मुस्तैद थे. वह गोपाल यादुका के घर के सामने बाइक स्टार्ट कर खड़ा रहा और विशाल कुमार उनके नजदीक पहुंचकर उनके सिर में गोली मार हत्या की थी. उसने बताया कि गोली मारने के बाद वह और विशाल कुमार अपनी बाइक लेकर बजरंगबली चौक के रास्ते कदवाबासा पहुंचे थे.

जमीन ब्रोकर संजय भगत ने हत्या की सुपारी देने की पहल की थी, लेकिन पैसे को लेकर डील नहीं होने की वजह से बात नहीं बनी. बाद में रूपौली की पूर्व विधायक बीमा भारती के पुत्र राजा कुमार ने उनलोगों से संपर्क कर व्यवसायी गोपाल यादुका की सुपारी दी.विकास यादव ने बताया कि पूर्व विधायक पुत्र राजा से पांच लाख में डील होने के बाद उसे पहले 76 सौ रुपये दिए गए थे. उसे राजा द्वारा हत्या के बाद 48 हजार रुपये कदवाबासा में दिया गया.

हत्या के बाद जब वह और विशाल यादव कदवाबासा पहुंचे तो विधायक का पुत्र राजा कुमार अपने बुलेट से और उसका अन्य साथी उसके पीछे-पीछे थार वाहन से वहां पहुंचा था. उसने बताया कि व्यवसायी गोपाल यादुका की हत्या के बाद उसी दिन कदवाबासा में राजा कुमार के द्वारा एक पार्टी भी दिया गया था.भवानीपुर थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि इस मामले में जमीन ब्रोकर संजय भगत को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. बहुत जल्द सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

-sponsored-

- Sponsored -

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

-sponsored-

Comments are closed.