By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

समस्तीपुर लोक सभा उप-चुनाव को लेकर क्या है प्रशासन की तैयारी?

आठ उम्मीदवारों के बीच होगी सियासी जंग, चुनाव चिह्न आवंटित

;

- sponsored -

बिहार के पांच विधान सभा सीट और एक लोक सभा सीट पर उप-चुनाव हो रहा है. लोकसभा उपचुनाव को लेकर नामांकन पत्र वापस लेने के अंतिम दिन भी किसी ने भी अपना नाम वापस नहीं लिया. कुल आठ प्रत्याशी मैदान में दते हुए हैं.

-sponsored-

-sponsored-

समस्तीपुर लोक सभा उप-चुनाव को लेकर क्या है प्रशासन की तैयारी?

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार के पांच विधान सभा सीट और एक लोकसभा सीट पर उप-चुनाव हो रहा है. लोकसभा उपचुनाव को लेकर नामांकन पत्र वापस लेने के अंतिम दिन भी किसी ने भी अपना नाम वापस नहीं लिया. कुल आठ प्रत्याशी मैदान में दते हुए हैं. मैदान में बचे उम्मीदवारों के बीच चुनाव चिह्न का आवंटन कर दिया गया है. जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी शशांक शुभंकर के अनुसार निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराने की पूरी तैयारी कर ली गई है.

कुल 11 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किया था. तीन का नामांकन पत्र त्रुटि के कारण रद किया गया. शेष आठ प्रत्याशी मैदान में बच गए है.अब देखना ये है कि समस्तीपुर लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र की जनता कांग्रेस के डॉ. अशोक कुमार का साथ देती है या फिर एलजेपी प्रत्याशी प्रिस राज को दिल्ली के बंगले में भेंजना चाहती है.दुसरे प्रत्याशियों  सूरज कुमार दास को ऑटो रिक्शा, अनामिका को गैस सिलेंडर, शशिभूषण दास को मोतियों की हार, निर्दोष कुमार को डोली, रंजी देवी को तरबूज और विद्यानंद राम को आदमी व पालयुक्त नौका चुनाव चिन्ह आवंटित किया गया है.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

पुलिस अधीक्षक विकास वर्मन का दवा है कि लोकसभा उपचुनाव शांतिपूर्ण, स्वतंत्र एवं भयमुक्त वातावरण में संपन्न कराने के लिए प्रशासन पूरी तरह तैयार है. जिले में कुल 439 लोगों को चिह्नित किया गया है, जो चुनाव के दौरान बाधा उत्पन्न कर सकते हैं. ऐसे लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है. 166 बूथों को संवेदनशील मानकर सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है. कुल 1411 हथियारों में 843 लोगों के हथियार का सत्यापन कराकर उसे शस्त्रागार में जमा कर लिया गया है.

धारा 107 और 116 के तहत 1935 लोगों को चिह्नित किया गया है. 1175 लोगों से बंध पत्र भरवाया गया है. जिले की सीमा को सील कर जांच पड़ताल की जा रही है. प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में तीन-तीन उडऩदस्ता टीम को लगाया गया है, जो वाहनों की चेकिंग, मादक पदार्थ एवं निर्धारित से अधिक रुपये ले जाने वालों को पकडऩे का काम करेगी और अपराधियों पर नकेल कसेगी.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.