By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तीनों कृषि कानूनों को पूरी तरह से निरस्त किया जाए : रामेश्वर उरांव

;

- sponsored -

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने कहा है कि उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार की ओर से बनाए गए नये कृषि कानूनों पर स्टे लगाने का फैसला किया है, लेकिन पार्टी इससे पूरी तरह से संतुष्ट नहीं है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने कहा है कि उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार की ओर से बनाए गए नये कृषि कानूनों पर स्टे लगाने का फैसला किया है, लेकिन पार्टी इससे पूरी तरह से संतुष्ट नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि पहले इन तीनों कानूनों को पूरी तरह से निरस्त किया जाए और फिर सभी से विचार-विमर्श कर नए कानून बनाने पर सहमति बनाई जाए। उरांव बुधवार को रांची के रॉक गार्डन में पार्टी द्वारा मीडिया कर्मियों के लिए आयोजित वन भोज कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश के एक वरिष्ठ नागरिक होने के नाते उन्होंने देखा है कि कई कानून बने और कई कानून खत्म भी किए गये। यदि कोई यह कहता है कि सरकार द्वारा बनाया गया कानून उसके हित में नहीं है तो सरकार को इस पर गंभीरता से विचार करना चाहिए और तत्काल इसे निरस्त करना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार द्वारा बनाए तीन नए कानूनों पर स्टे लगाने के साथ ही एक समिति भी गठित की गई है। लेकिन इस समिति में शामिल चार लोग केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए कानून के पक्षधर माने जाते हैं। ऐसी स्थिति में संदेह उत्पन्न होना स्वाभाविक है कि वे किसानों के हित में बात रखेंगे या सरकार का समर्थन करेंगे। इसलिए कांग्रेस यह चाहती है कि तत्काल इन कानूनों को निरस्त किया जाए।
उन्होंने कहा कि नए कृषि कानून के प्रति लोगों का यह कहना है कि मौजूदा मंदी व्यवस्था में कई खामियां है। इस पर वे यह कहना चाहेंगे कि यदि किसी व्यक्ति के पेट में दर्द होता है तो पेट को ही काटकर ही ना फेंक दिया जाता है, बल्कि पेट दर्द का समुचित उपचार किया जाता है। उसी तरह यदि केंद्र सरकार को यह लगता है कि मौजूदा मंदी व्यवस्था में कुछ खामियां है तो उसमें सुधार करने की आवश्यकता है। ऐसा नहीं होना चाहिए कि इस व्यवस्था को ही खत्म कर दिया जाए। रांची में  कोरोना वैक्सीन की पहली खेप पहुंचने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उरांव ने कहा कि यदि उन्हें मौका मिलेगा तो वह सबसे पहले टीका लगाएंगे। उन्होंने रांची वासियों से भी अपील की कि सभी लोग कोविड-19 टीका लगवाने के लिए आगे आए। उन्होंने कहा कि जो लोग टीका लगवाना चाहेंगे टीका लगवा सकते हैं। सरकार सभी लोगों के लिए व्यवस्था करेगी।
Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता द्वारा संगठन के कामकाज पर उठाए गए सवाल पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यदि वे लोग पार्टी फोरम पर अपनी बातें रखते हैं और कोई सुझाव देते हैं तो संगठन की ओर से उसका स्वागत किया जाएगा। इससे पहले वन भोज कार्यक्रम की शुरुआत के दौरान रांची प्रेस क्लब के अध्यक्ष राजेश सिंह द्वारा   रामेश्वर उरांव और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के प्रति आभार जताते हुए यह कहा गया कि पिछले 10 महीने के दौरान कोरोनावायरस संक्रमण के कारण सभी लोग अपने घरों व कामकाज में सिमटे थे लेकिन अब नए वर्ष में नए संकल्प के साथ सभी को मिलकर आगे बढ़ने की जरूरत है।
पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव और डा राजेश गुप्ता छोटू ने मीडिया कर्मियों के प्रति आभार जताते हुए कहा कि निष्पक्ष और स्वतंत्र पत्रकारिता की वजह से देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था लगातार मजबूत हुई है। प्रवक्ताओं ने कहा कि कृषि कानून के खिलाफ और देश में बढ़ती महंगाई के विरोध में प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से 15 जनवरी को राजभवन मार्च किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मोराबादी से राजभवन मार्च में हिस्सा लेने के लिए पार्टी के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह मुख्य अतिथि के रुप में रांची पहुंच रहे हैं।
;

-sponsored-

Comments are closed.