By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तय समय पर ही होंगे बिहार पंचायत चुनाव, निर्वाचन आयोग ने घोषित किया ट्रेनिंग प्रोग्राम.

HTML Code here
;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : भारत निर्वाचन आयोग और राज्य निर्वाचन आयोग के बीच ईवीएम विवाद सुलझ जाने के बाद अब पंचायत चुनाव की प्रक्रिया को लेकर कार्य योजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है. अब जब यह तय हो गया है कि मल्टी पोस्ट नहीं, बल्कि सिंगल पोस्ट ईवीएम से चुनाव करवाए जाएंगे . आयोग ने निर्वाची अधिकारियों के प्रशिक्षण का कार्यक्रम भी घोषित कर दिया है. ट्रेनिंग प्रोग्राम 22 से 24 अप्रैल के बीच होगा.

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव योगेंद्र राम ने जिला पदाधिकारियों को पत्र लिखकर निर्वाची एवं सहायक निर्वाची पदाधिकारियों के ट्रेनिंग प्रोग्राम के बारे में जानकारी दी है. इसके अनुसार प्रशिक्षण ऑनलाइन होगा. पहले दिन 22 अप्रैल को पटना, सारण एवं कोसी प्रमंडल के प्रखंड निर्वाची अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा. यह तीन घंटे का होगा. 23 अप्रैल को तिरहुत, दरभंगा, पूर्णिया और 24 अप्रैल को मगध, मुंगेर एवं भागलपुर प्रमंडल के निर्वाचन अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा.

निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के अनुसार, प्रशिक्षण के दौरान नामांकन, संवीक्षा, मतदान प्रबंधन, ईवीएम, आईटी नॉलेज, कोविड गाइडलाइन, विधि व्यवस्था जैसी बातों के बारे में बताया जाएगा. केंद्रीय और राज्य चुनाव आयोग के बीच इस बात पर सहमति बनने के बाद कि पंचायत चुनाव उन्हीं ईवीएम से होंगे, जिनसे लोकसभा और विधानसभा चुनाव हुए थे, भारत निर्वाचन आयोग ने ईवीएम की आपूर्ति के लिए पत्राचार शुरू कर दिया है. गौरतलब है कि राज्य में पहली बार ईवीएम से पंचायत चुनाव होने जा रहे हैं, ऐसे में पूरी चुनाव प्रक्रिया बदली हुई होगी.

आयोग के अनुसार ईवीएम की सुरक्षा एवं मतदान केंद्रों तक पहुंचाने-लाने की जिम्मेदारी जिला निर्वाची पदाधिकारी की होगी. जिलाधिकारी ही पंचायत चुनावों के जिला निर्वाची अधिकारी होते हैं. अंचलाधिकारी एवं अंचलों में तैनात राज्य सरकार के दूसरे अधिकारी सहायक निर्वाची अधिकारी होते हैं. जिला परिषद के सदस्यों के निर्वाची अधिकारी एसडीओ होते हैं.

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.