By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

चिराग पासवान का मोह नहीं छोड़ रही बीजेपी, शाहनवाज हुसैन का आया बड़ा बयान

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार एनडीए में चिराग पासवान को लेकर ‘लड़ाई’ छिड़ी हुई है। बीजेपी कोटे के मंत्री नीरज कुमार बबलू ने चिराग पासवान को जैसे ही एनडीए का हिस्सा बताया जेडीयू नेताओं को ‘आग’ लग गयी।जेडीयू की तरफ से बयान को लेकर बीजेपी पर पलटवार होने लगे और मांझी भी इस लड़ाई में नीतीश की पार्टी के साथ कूद गये।अब इस लड़ाई में जहां बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल इस मामले में किनारा करते दिख रहे हैं तो दूसरी तरफ बीजेपी के सीनियर लीडर और बिहार सरकार के मंत्री शाहनवाज हुसैन ने तो आगे बढ़ कर बयान दे दिया है जो जेडीयू को कही से अच्छा नहीं लगने वाला ।

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार एनडीए में चिराग पासवान को लेकर ‘लड़ाई’ छिड़ी हुई है। बीजेपी कोटे के मंत्री नीरज कुमार बबलू ने चिराग पासवान को जैसे ही एनडीए का हिस्सा बताया जेडीयू नेताओं को ‘आग’ लग गयी।जेडीयू की तरफ से बयान को लेकर बीजेपी पर पलटवार होने लगे और मांझी भी इस लड़ाई में नीतीश की पार्टी के साथ कूद गये। और कहा कि जो भी पीएम मोदी और सीएम नीतीश का विरोध करेगा वह एनडीए का हिस्सा नहीं हो सकता । अब इस लड़ाई में जहां बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल इस मामले में किनारा करते दिख रहे हैं तो दूसरी तरफ बीजेपी के सीनियर लीडर और बिहार सरकार के मंत्री शाहनवाज हुसैन ने तो आगे बढ़ कर बयान दे दिया है जो जेडीयू को कही से अच्छा नहीं लगने वाला ।

बीजेपी के नेता सैयद शाहनवाज हुसैन ने भी कह दिया है कि लोजपा अभी भी एनडीए के साथ है। चिराग पासवान भी लोजपा के ही सांसद हैं। रामविलास पासवान के जीवित रहने के समय से लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) एनडीए का अंग है। रामविलास जी के बाद आज भी उन्हीं की पार्टी के सांसद और उनके अनुज पशुपति कुमार पारस नरेंद्र मोदी सरकार में इस्पात मंत्री हैं। इस नाम की कोई दूसरी पार्टी भी नहीं बनी है। शाहनवाज के बयानों के संकेतों को समझे तो तकनीकी रूप से उन्होंने चिराग पासवान को एनडीए के अंग के रूप में स्वीकार किया है।

वहीं इस मसले पर बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने पूरे मसले से किनारा करते हुए कह दिया कि पशुपति पारस राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) का हिस्सा हैं। वे केंद्र में मंत्री भी हैं। हमारा गठबंधन किसी व्यक्ति विशेष से नहीं है। व्यक्ति नहीं पार्टी गठबंधन का हिस्सा हुआ करती है। पशुपति पारस के नेतृत्व में लोजपा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्सा है। समझा जा सकता है कि वे फिलहाल इस मुद्दे पर बचाव का रास्ता अपना कर चल रहे हैं।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

इधर जेडीयू ने साफ-साफ कह दिया है कि ऐसे तो नहीं चलेगा। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान ही चिराग पासवान को एनडीए से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। आज की तारीख में वह एनडीए का हिस्सा नहीं हैं। पशुपति पारस के नेतृत्व में 5 सांसद जरूर राष्ट्रीय जनता दल गठबंधन का हिस्सा हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव के दौरान नकारात्मक राजनीति की थी।

यानि जेडीयू चिराग पासवान वाले इस मसले पर किसी तरह समझौते के मूड में नहीं है। बीजेपी को उसने साफ मैसेज दे दिया है। लेकिन शाहनवाज हुसैन के बयान से पूरी तरह कन्फ्यूजन की स्थिति पैदा हो गयी है। यानि बीजेपी का चिराग पासवान के प्रति मोह कही से कम नहीं हुआ है। पीएम मोदी के डेढ़ पन्ने के लेटर ने इस बात को पुख्ता किया कि चिराग पासवान अभी भी पीएम मोदी के हनुमान बने हुए हैं। अब आगे-आगे देखिए होता है क्या क्योंकि ये सियासत है यहां जो दिखता है वो होता नहीं जो होता है वो दिखता नहीं। े

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.