By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

नीतीश कुमार को नहीं है दुश्मन की दरकार, बीजेपी नेता जुटे हैं उनका ईकबाल मिटाने में

Above Post Content

- sponsored -

Below Featured Image

-sponsored-

नीतीश कुमार को नहीं है दुश्मन की दरकार, बीजेपी नेता जुटे हैं उनका ईकबाल मिटाने में

सिटी पोस्ट लाइव : अब ये बात साफ़ हो गई है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ईकबाल ख़त्म करने में बीजेपी के ही नेता जी-जान से जुड़े हुए हैं. जिस तरह से मुख्यमंत्री पर चप्पल फेंके जाने की तैयारी से अवगत होने के वावजूद बीजेपी नेता सच्चिदानंद राय ने चुप्पी साधे रखी और चप्पल फेंके जाने के बाद कहा कि उन्हें तो पहले से पता था यहीं होनेवाला है, साफ़ है बीजेपी नीतीश कुमार को अपमानित करने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है.अब जब पुलिस ने सीएम पर चप्पल फेंकने वाले लडके चन्दन सिंह को पूछताछ के बाद थाने से छोड़ दिया है, सच्चिदानंद राय ने ,इसके लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद देकर जले पर नमक छिड़कने का काम कर दिया है.

गौरतलब है कि सीएम पर चप्पल फेंके जाने की घटना से पहले भी सच्चिदानंद राय ने मुख्यमंत्री को चेतावनी दे दी थी कि अगर सीएम ने सवर्णो की अवाज को अनदेखा किया तो उन्हे सवर्णो के आक्रोश का सामना करना पड़ेगा. मुख्यमंत्री पर चप्पल फेंके जाने को स्वाभाविक घटना बताने वाले सच्चिदानंद राय ये भी कहना नहीं भूलते कि लोकतेत्र में हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं है. चंदन सिंह ने सीएम पर चप्पल फेंका, वह अगर अपवाद के रुप में ही रहे तो ही अच्छा है.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

सच्चिदानंद ने चप्पल फेंकने वाले चन्दन के खिलाफ कड़ी कारवाई करने की बजाय वो उसको छोड़े जाने पर ख़ुशी जता रहे हैं. उनका कहना है कि  ये बहुत खुशी की बात है कि मुख्यमंत्री जी ने इस मामले में बड़ी उदारता दिखाते हुए चंदन को छोड़ दिया है. राय ने कहा कि अब मैं मुख्यमंत्री जी से अनुरोध करूगां की ​थोड़ी सी और उदारता दिखाएं और सवर्णो की जो मांग है ,उसके ऊपर भी विचार करें.उन्होंने कहा कि कहा कि मैं मुख्यमंत्री से अनुरोध करूंगा की वे गरीब सवर्णो को आरक्षण देने की बात पर गौर करें.

एक तरफ सच्चिदानंद राय सावन नौजवानों के गुस्से से मुख्यमंत्री को डरा रहे हैं वहीं दूसरी तरफ सवर्ण समाज के नौजवानों से अपनी मांगे मनवाने के लिए सरकार पर निरंतर दबाव बनाए जाने का आह्वान भी क्र रहे हैं. उन्होंने कहा कि उन्हे उम्मीद है कि सवर्ण आयोग की सिफारिशों में भी सवरण समाज के लिए आर्थिक आधार पर आरक्षण देने की अनुशंसा की गई होगी.उन्होंने कहा कि मैं सीएम से अनुरोध करूंगा की इन सिफारिशों को वे लागू करेंए ताकि गरीब सवर्णो युवाओं का गुस्सा शांत हो सके.जाहिर है सच्चिदानंद राय एक तरफ मुख्यमंत्री से आग्रह कर रहे हैं दूसरी तरफ सवर्ण समाज के युवाओं के गुस्से का हवाला देकर उन्हें डरा भी रहे हैं.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.