By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सम्पूर्ण क्रांति एक्सप्रेस को लेकर अपनी सरकार से आरपार के मूड में BJP नेता

रेल मंत्री से अपील- बिहार के करोड़ों लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ न करे रेल मंत्रालय .

;

- sponsored -

सम्पूर्ण क्रांति एक्सप्रेस के ठहराव को लेकर बिहार की राजनीति गरमाई हुई है.बिहार की राजधानी के राजेंद्र नगर टर्मिनल से नई दिल्ली के लिए चलने वाली संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस  को पश्चिम बंगाल के मधुपुर तक विस्तार देने की रेल मंत्रालय की योजना है. लेकिन बिहार ने सांसद और मंत्री इसका विरोध कर रहे हैं.

-sponsored-

-sponsored-

सम्पूर्ण क्रांति एक्सप्रेस को लेकर अपनी सरकार से आरपार के मूड में BJP नेता

सिटी पोस्ट लाइव : सम्पूर्ण क्रांति एक्सप्रेस के ठहराव को लेकर बिहार की राजनीति गरमाई हुई है. बिहार की राजधानी के राजेंद्र नगर टर्मिनल से नई दिल्ली के लिए चलने वाली संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस  को पश्चिम बंगाल के मधुपुर तक विस्तार देने की रेल मंत्रालय की योजना है. लेकिन बिहार ने सांसद और मंत्री इसका विरोध कर रहे हैं. बीजेपी नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने रेल मंत्री पीयूष गोयल  को एक पत्र लिखकर इसे एक शाजिश करार दिया है. उन्होंने कहा कि इस ट्रेन को अन्यत्र ले जाने की किसी भी कोशिश और साजिश का करारा जबाब बिहार देगा.उन्होंने रेलमंत्री से  इस प्रस्ताव को खारिज करने की अपील की है. उन्होंने यह भी लिखा है कि ऐसा करना  पटना और बिहार  के करोड़ों लोगों के भावनाओ से खिलवाड़ होगा.

रामकृपाल यादव ने 14 नवंबर को रेल मंत्री को लिखे अपने पत्र में लिखा कि रेल मंत्रालय राजेन्द्र नगर टर्मिनल से खुलने वाली 12393 सम्पूर्ण क्रांति एक्सप्रेस ट्रेन को अन्यत्र ले जाने की तैयारी कर रहा है. यह पटना और बिहार के लोगों से उनका हक छीनने जैसा है. संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस को पश्चिम बंगाल के मधुपुर ले जाने के रेल मंत्रालय के फैसले का सांसद रामकृपाल यादव ने विरोध जताया है.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

बीजेपी सांसद ने इसके लिए कारण बताते हुए लिखा है कि  पटना राजधानी एक्सप्रेस के बाद यही एक प्रीमियम ट्रेन है जो पटना से खुलती है. चूंकि राजधानी एक्सप्रेस में डायनेमिक फेयर सिस्टम लागू है इस कारण 12393/94 एक्सप्रेस में दिल्ली जाने का किराया राजधानी एक्सप्रेस के किराए से लगभग आधा लगता है. इसमें स्लीपर की भी पर्याप्त बोगी रहती है जिससे काफी लोग कम समय और कम भाड़े में नई दिल्ली पहुंच जाते हैं. इसकी ऑक्यूपेंसी रेट भी 100 प्रतिशत है. इसके मेंटेनेंस में अमूमन 6 घंटे से अधिक का समय लगता है उस लिहाज से यह ट्रेन राजेन्द्र नगर यार्ड में भी काफी देर तक नहीं खड़ी रहती है.

रामकृपाल यादव ने लिखा है कि इस ट्रेन के नामकरण के पीछे भी एक ऐतिहासिक तथ्य जुड़ा हुआ है. 5 जून 1974 को गांधी मैदान की विशाल जनसभा में लोकनायक जयप्रकाश नारायण जी ने तत्कालीन कांग्रेस सरकार के विरुद्ध सम्पूर्ण क्रांति का आह्वान किया था. जेपी के उसी सम्पूर्ण क्रांति के नारे पर राजेंद्रनगर सम्पूर्ण क्रांति ट्रेन की शुरुआत की गई थी.

गौरतलब है कि पाटलिपुत्र के सांसद रामकृपाल यादव, डॉ. सीपी ठाकुर समेत आठ सांसदों ने इस ट्रेन के प्रारंभ होने के स्टेशन में बदलाव किए जाने के स्थिति में बड़ा आंदोलन चलाने की चेतावनी तक दी है. सांसदों ने रेलवे बोर्ड की मंशा की निंदा करते हुए कहा कि ऐसा हुआ तो पटना से लेकर दिल्ली तक विरोध होगा.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.