By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

भाजपा झारखंड विधानसभा चुनाव में 65 प्लस का लक्ष्य हासिल करेगी : नंद किशोर यादव

- sponsored -

झारखंड में इस बार विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 65 प्लस का लक्ष्य रखा है।  झारखंड भाजपा के विधानसभा सह प्रभारी और बिहार सरकार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में इस लक्ष्य को प्राप्त कर लेंने का दावा किया ।

-sponsored-

भाजपा झारखंड विधानसभा चुनाव में 65 प्लस का लक्ष्य हासिल करेगी : नंद किशोर यादव

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: झारखंड में इस बार विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 65 प्लस का लक्ष्य रखा है।  झारखंड भाजपा के विधानसभा सह प्रभारी और बिहार सरकार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में इस लक्ष्य को प्राप्त कर लेंने का दावा किया । उन्होंने कहा कि इस साल के अंत तक विधानसभा का चुनाव होना है। इसे लेकर वह दो दिवसीय झारखंड के प्रवास पर हैं। 13 अगस्त को पार्टी के सांसद, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष, मंत्रियों के साथ बैठक हुई है जिसमें 65 प्लस के लक्ष्य को पार करने पर विचार विमर्श किया गया। नंद किशोर यादव ने कहा कि वह 1983 से 2000 तक अविभाजित बिहार के समय में झारखंड में रहे हैं। इस दौरान सभी प्रखंडों में गये हैं। पहले की अपेक्षा झारखंड में पार्टी का विस्तार हुआ है। झारखंड में प्रत्येक बूथ पर मजबूत स्थिति है। पहले 25 लाख सदस्य थे। अभी 70 लाख नये सदस्य और जुड़े हैं। पार्टी की ताकत दोगुनी हुई है। उन्होंने कहा ” झारखंड में हमें किसी चीज की आवश्यकता नहीं है। जरूरत है कि हम केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचायें। अगर इतना काम हम लोग कर लेंगे, तो 65 प्लस के लक्ष्य को प्राप्त कर लेंगे। केंद्र और राज्य सरकार ने अनुसूचित जनजातियों, आदिवासियों के लिए कई कार्य किये हैं जिसका प्रभाव दिख रहा है।” उन्होंने कहा ” केंद्र और राज्य के मुद्दे पर विपक्ष नाकारात्मक राजनीति कर रही है। इसका उदाहरण  कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाना है। केंद्र सरकार ने उसे हटाने का निर्णय लिया। विपक्ष उसे दूसरी नजर से देख रहा है। ये अच्छा नहीं है। जम्मू में हर संविधान लागू नहीं है। 10 प्रतिशत से अधिक आदिवासी आबादी है, जो अधिकार से वंचित थे।” उन्होंने कहा कि 1950-60 से वहां पर वाल्मिकी समुदाय के लोग रहते थे। वह सिर्फ सफाई करते थे। उनके घर का बच्चा कितना भी पढ़ लिख लें, लेकिन उन्हें दूसरा काम नहीं मिलता था। उन्होंने कहा कि उमर अब्दुल्ला ने कश्मीर से बाहर की लड़की से शादी की, उनके बच्चों को वहां पर सभी अधिकार मिल रहे हैं। 370 पर दृष्टि हमेशा से कांग्रेस का रहा है। वह वोट बैंक की राजनीति करते हैं। उन्होंने कहा कि झारखंड में जो लोग कांग्रेस से गठबंधन करेगा, उसे जवाब देना होगा कि जम्मू कश्मीर में हिन्दुओं को प्रताड़ना क्यूं दी गयी। उन्होंने कहा कि सरकार ने झारखंड के विकास की रूप रेखा बनायी है, उसे गति देंगे। जदयू से समझौता के संबंध में उन्होंने कहा ” जदयू से हमारा गठबंधन बिहार में है। कौन क्या कर रहा है, भाजपा को उसकी चिंता नहीं है। हमने विकास के लिए बिहार में गठबंधन किया है। हम अपने कार्यकर्ताओं की ताकत पर चुनाव लड़ रहे हैं।” टिकट बंटवारे पर उन्होंने कहा कि टिकट बंटवारे पर पार्टी की पार्लियामेंट बोर्ड की बैठक में इस पर निर्णय लिया जायेगा। किसे टिकट मिलेगा, किसे नहीं। उन्होंने कहा कि 13 अगस्त को हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि पार्टी के सांसद, मंत्री और पदाधिकारी 513 मंडलों में जायेंगे और मंडल अध्यक्ष के साथ बैठक करेंगे। इस कार्य को 31 अगस्त तक पूरा करना है। उन्होंने कहा कि झारखंड की तरह बिहार में भी राजद का बिखराव होगा। जिस तरह झारखंड में हुआ है उसी तरह बिहार में भी होगा। उन्होंने कहा कि बिहार में राजद कहां है। नेता प्रतिपक्ष सदन में नहीं आते हैं। बजट सत्र में भी नहीं आते। यह परिवारवाद की पार्टी है। प्रेसवार्ता में भाजपा के प्रदेश महामंत्री दीपक प्रकाश, मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक आदि मौजूद थे।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.