By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

‘केसी त्यागी ने पहले हीं कहा था बीजेपी ने केन्द्र में नहीं दी थी हिस्सेदारी तो बुरा लगा था’

;

- sponsored -

केन्द्र की सत्ता में जेडीयू को बीजेपी सांकेतिक हिस्सेदारी देना चाहती थी यानि उसके सिर्फ 1 सांसद को मंत्री बनाना चाहती थी लेकिन नीतीश कुमार को यह हिस्सेदारी मंजूर नहीं थी इसलिए उन्होंने सरकार से बाहर रहने का फैसला किया। अब इस पूरे मामले को लेकर बिहार की राजनीति गरमाने लगी है और यह अंदेशा भी बढ़ने लगा है कि इस पूरे प्रकरण के बाद अब बीजेपी और जेडीयू के बीच के रिश्ते भी सामान्य नहीं रहेंगे।

-sponsored-

-sponsored-

‘केसी त्यागी ने पहले हीं कहा था बीजेपी ने केन्द्र में नहीं दी थी हिस्सेदारी तो बुरा लगा था’

सिटी पोस्ट लाइवः केन्द्र की सत्ता में जेडीयू को बीजेपी सांकेतिक हिस्सेदारी देना चाहती थी यानि उसके सिर्फ 1 सांसद को मंत्री बनाना चाहती थी लेकिन नीतीश कुमार को यह हिस्सेदारी मंजूर नहीं थी इसलिए उन्होंने सरकार से बाहर रहने का फैसला किया। अब इस पूरे मामले को लेकर बिहार की राजनीति गरमाने लगी है और यह अंदेशा भी बढ़ने लगा है कि इस पूरे प्रकरण के बाद अब बीजेपी और जेडीयू के बीच के रिश्ते भी सामान्य नहीं रहेंगे। यह अंदेशा इसलिए भी है क्योंकि चुनाव परिणाम से पहले हीं जेडीयू महासचिव केसी त्यागी ने सिटी पोस्ट लाइव के एडिटर इन चीफ श्रीकांत प्रत्यूष से बातचीत करते हुए कहा था कि जब जेडीयू महागठबंधन छोड़कर बीजेपी के साथ आयी थी तो हमारी यह अपेक्षा थी कि जेडीयू को केन्द्रीय मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी नहीं मिलेगी लेकिन जब हिस्सेदारी नहीं मिली तो हमें अप्रिय लगा।

जाहिर है जब केसी त्यागी चुनाव से पहले हीं यह कह रहे हैं कि जेडीयू को अच्छा नहीं लगा जब बीजेपी ने पिछली सरकार में जेडीयू को हिस्सेदारी नहीं दी तो इस बार जेडीयू को उसकी अपेक्षा के अनुरूप हिस्सेदारी नहीं मिलने पर जेडीयू की नाराजगी और गुस्सा किस हद तक होगा। वहीं पटना में आज पत्रकारों से बातचीत करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अब अटल जी का जमाना नहीं बल्कि मोदी का जमाना है। नीतीश कुमार ने दिल के दर्द को सार्वजनिक करते हुए कहा कि अटल जी के जमाना में मंत्री बनने के नाम तय होते हीं विभाग का बंटवारा कर दिया जाता था। तब बीजेपी को पूर्ण बहुमत नहीं थी,लेकिन अब वह जमाना नहीं रहा। अब बीजेपी पूर्ण बहुमत में है और अब मोदी का जमाना आ गया है।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

नीतीश कुमार ने तो यहां तक कह दिया कि अब वे मंत्रिमंडल में जगह के लिए बीजेपी से कोई बात नहीं करेंगे।सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में जो जीत मिली है वह किसी पार्टी की जीत नहीं बल्कि बिहार की जनता की जीत है। मतलब साफ है कि गठबंधन में बने रहने के एलान के बावजूद मंत्रिमंडल में उचित जगह नहीं मिल पाने की वजह से नीतीश के मन में गांठ पड गया है। यह गांठ आने वाले दिनों में खासकर बिहार में एनडीए के सेहत पर क्या असर दिखायेगा यह तो वक्त की बात है लेकिन इतना तय हो चुका है कि वर्तमान परिस्थिति में सबकुछ ठीक-ठाक नहीं है।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.