By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

केसी त्यागी ने कहा-P.K करें ममता बनर्जी के साथ काम,पार्टी को दिक्कत नहीं

- sponsored -

सिटी पोस्ट लाइव- जेडयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर एक बार फिर से चर्चा में आ गये हैं. इस बार वें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए चुनावी रणनीती बनाने जा रहे हैं. लेकिन इस बात पर राजनीति भी गर्म हो गयी है कि क्या वे मुख्यमंत्री मंमता बनर्जी के लिए चुनावी रणनीति बनाने सीएम नीतीश कुमार के सहमती से जा रहे हैं या फिर बात कुछ और है. लेकिन अब इस बात की पुष्टि जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी के एक बयान ने कर दी है

-sponsored-

केसी त्यागी ने कहा-P.K करें ममता बनर्जी के साथ काम,पार्टी को दिक्कत नहीं

सिटी पोस्ट लाइव- जेडयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर एक बार फिर से चर्चा में आ गये हैं. इस बार वें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए चुनावी रणनीती बनाने जा रहे हैं. लेकिन इस बात पर राजनीति भी गर्म हो गयी है कि क्या वे मुख्यमंत्री मंमता बनर्जी के लिए चुनावी रणनीति बनाने सीएम नीतीश कुमार के सहमती से जा रहे हैं या फिर बात कुछ और है. लेकिन अब इस बात की पुष्टि जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी के एक बयान ने कर दी है. उन्होंने प्रशांत किशोर का बचाव करते हुए कहा है कि जेडीयू में होना उनकी पॉलिटिकल फिलॉसफी है, लेकिन उनकी कम्पनी की कोई पॉलिटिकल फिलोसफी नहीं है, और यह कम्पनी ही ममता के लिए काम करने जा रही है.

केसी त्यागी ने अपनी दलील में कहा कि पहले बीजेपी, राहुल गांधी, अखिलेश यादव, और बाकी लोगों के लिए भी वे काम कर चुके हैं. यह ठीक ऐसा है जैसे बीएसएनएल कम्पनी के फोन का सभी लोग इस्तेमाल करते हैं. उसी तरह है प्रशांत किशोर की कम्पनी आइपैक ( I-PAC: Indian Political Action Committee) भी है, जो सबके लिए काम कर सकती है. उन्होंने यह भी कहा कि कई डॉक्टर भी कई पार्टियों के पदाधिकारी होते हैं. लेकिन वे सबका इलाज करते हैं उसी तरह प्रशांत किशोर भी अपना काम कर सकते हैं.

Also Read

-sponsored-

बता दें कि कुछ दिन पहले ही प्रशांत किशोर ने पटना और दिल्ली में नीतीश कुमार से मुलाकात की थी. इसके बाद ही उनके ममता बनर्जी के लिए काम करने की खबरें सामने आईं हैं. गुरुवार को जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि प्रशांत किशोर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं. ऐसे में इस तरह की कोई भी बात बिना राष्ट्रीय अध्यक्ष की इजाजत के संभव नहीं है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पीके टीएमसी के साथ कॉन्ट्रैक्ट पर साइन भी कर चुके हैं और अब वे पश्चिम बंगाल में होनेवाले विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के लिए रणनीतिकार के रूप में कार्य करेंगे.
जे.पी.चंद्रा की रिपोर्ट

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.