By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सीएम नीतीश के कामों से चिराग नाराज लेकिन भाई प्रिंस हैं गदगद, जमकर की तारीफ़

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार की राजनीति में उस वक़्त बवाल मच गया था जब पता चला की लोक जनशक्ति पार्टी के 5 सांसद बगावत पर उतर गए. लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के चाचा 4 सांसदों के साथ खुद ही राष्ट्रीय अध्यक्ष बनकर लोकसभा स्पीकर को पत्र सौंप दिया.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार की राजनीति में उस वक़्त बवाल मच गया था जब पता चला की लोक जनशक्ति पार्टी के 5 सांसद बगावत पर उतर गए. लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के चाचा 4 सांसदों के साथ खुद ही राष्ट्रीय अध्यक्ष बनकर लोकसभा स्पीकर को पत्र सौंप दिया. इतना ही नहीं कैबिनेट में मंत्री भी बन गए. चिराग को चाचा से जितनी नारजगी हुई उतना ही अपने दुलारे भाई प्रिंस राज पासवान से हुई जिन्हें उन्होंने सांसद के साथ प्रदेश अध्यक्ष बनाया था. इस बवाल के बाद चिराग पूरी तरह से सीएम नीतीश पर आक्रामक हो गए. लेकिन वहीं उनके भाई और लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीएम नीतीश के कामों से खुश हैं.

प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद समस्तीपुर सांसद प्रिंस राज पहली बार शनिवार को पटना आये. पटना हवाई अड्डे पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया. मीडिया के सवालों पर उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कुशल और अनुभवी राजनेता बताया. कहा कि सीएम ने अब तक राज्य के लोगों के हित में कई बड़े काम किये हैं. चिराग की आशीर्वाद यात्रा से जुड़े सवाल पर कहा कि कोई भी पार्टी यात्रा निकाल सकती है. हर राजनीतिक व्यक्ति जनता का आशीर्वाद लेना चाहता है. जातीय जनगणना पर कहा कि गरीबों और आम जनता के हक में कोई भी कार्य हो, उसे सरकार को करना चाहिए.

वैसे तो चाचा पशुपति पारस, प्रिंस राज सहित सभी सांसदों को चिराग ने पार्टी से निलंबित कर दिया था. लेकिन चाचा ने खुद ही पार्टी का चुनाव कर राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए. मतलब लोजपा में दो गुट बन गया. पहला चिराग का दूसरा पशुपति पारस का. दोनों गुट एक ही पार्टी के नाम पर अलग-अलग काम कर रहे हैं. प्रिंस राज भी पारस गुट से हैं और उन्हें पशुपति पारस ने प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी दी है. ऐसे में जहां चिराग सीएम नीतीश के कामों की खामिया बताने में लगे हैं तो वहीं प्रिंस तारीफ़ करते नहीं थक रहे.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.