By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

क्वारंटाइन सेंटर के मजदूरों से CM नीतीश ने पूछा हालचाल, सबने कहा- ठीकठाक

;

- sponsored -

कोई परेशानी तो नहीं हुई. अब आप बाहर मत जाइए. यहीं रहिये. यहीं काम मिलेगा. नीतीश कुमार ने क्वारंटीन सेंटर में रह रही एक महिला से पूछा-आपका तो 14 दिन पूरा हो रहा है ,कोई परेशानी तो नहीं हुई?

-sponsored-

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार क्वारंटीन सेंटर में रह रहे प्रवासी मजदूरों से विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये बातचीत कर रहे हैं. वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से नीतीश कुमार ने क्वारंटीन सेंटर में रह रहे प्रवासी मजदूरों से पूछा-कैसे हैं आप, कहाँ से आये हैं, कहाँ के रहनेवाले हैं. कोई परेशानी तो नहीं हुई.अब आप बाहर मत जाइए. यहीं रहिये. यहीं काम मिलेगा. नीतीश कुमार ने क्वारंटीन सेंटर में रह रही एक महिला से पूछा-आपका तो 14 दिन पूरा हो रहा है ,कोई परेशानी तो नहीं हुई? महिला बोली- नहीं सर कोई परेशानी नहीं हुई. मुख्यमंत्री ने कहा कि चलिए आपको बहुत शुभकामनाएं…..अब आप यहीं रहिए…यहीं रहिए…..

सीएम नीतीश कुमार ने आज 10 जिलों के प्रखंड स्तरीय क्वारंटीन सेंटरों की समीक्षा किया.पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, पूर्णिया ,गया ,बेगूसराय, रोहतास, मधुबनी, दरभंगा, सीतामढ़ी और शिवहर जिले के कोरेंटाईन सेंटरों को विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये देखा.वहां रह रहे मजदूरों से बातचीत की.

गौरतलब है कि आपदा प्रबंधन विभाग ने इन सभी जिलों के जिलाधिकारियों को 21 मई को हीं निर्देश दिया गया था कि संबंधित जिले के जिलाधिकारी प्रखंड स्तरीय 2 क्वारंटीन सेंटरों की समीक्षा हेतु  लैपटॉप और इंटरनेट कनेक्शन की व्यवस्था सुनिश्चित करें ताकि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रखंड स्तरीय क्वारंटीन सेंटरों की समीक्षा की जा सके.विपक्ष के नेताओं का आरोप है कि   जिला प्रशासन ने उन्हीं क्वारंटीन सेंटर पर ऑनलाईन अवलोकन करने के लिए चयन किया जहां पहले से हीं बेहतर व्यवस्था थी.अधिकांश जिलों में उन्हीं सेंटर का मुख्यमंत्री ने अवलोकन किया, जहाँ सबकुछ ठीकठाक है.लेकिन सवाल ये उठता है कि अगर 10 जिलों के एक भी क्वारंटीन सेंटर एक भी शिकायत नहीं आई, ये कैसे संभव है.कोई जिला प्रशासन तमाम मजदूरों को अपने मनपसंद बयान देने के लिए बाध्य नहीं कर सकता.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.