By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार की महिलायें समय से चुका रही कर्ज, कुछ लोग बैंक लूटकर भाग रहे विदेश

Above Post Content

- sponsored -

Below Featured Image

-sponsored-

बिहार की महिलायें समय से चुका रही कर्ज, कुछ लोग बैंक लूटकर भाग रहे विदेश

सिटी पोस्ट लाइव : जेडीयू अपने पक्ष में महिलाओं को गोलबंद करने में जी-जान से जुटा  है. गौरतलब है कि  नीतीश कुमार ने अपने कार्यकाल में महिलाओं के लिए बहुत कुछ किया है. पंचायत चुनाव में 50 फिसद और सरकारी नौकरियों में 35 फिसद का आरक्षण की व्यवस्था से लेकर बच्चियों को शिक्षित करने के लिए कई योजनाओं की शुरुवात की है. उनके नीतियों का ही परिणाम है कि आज महिलायें घर की चाहरदीवारी से बाहर निकली हैं. राजनीति में उनकी भागेदारी बड़ी है.अब चुनाव जब सामने है, जेडीयू मुख्यमंत्री के द्वारा महिलाओं के लिए किये गए ईन कार्यों की बदौलत महिलाओं को पार्टी के पक्ष में गोलबंद करने में जुटी है.

इसी क्रम में जेडीयू द्वारा पटना के बापू सभागार में आयोजित समाज सुधार वाहिनी के महा-सम्मलेन का आयोजन किया गया.मुख्यमंत्री ने महिलाओं की तारीफ़ करते हुए कहा कि महिलायें अब केवल घर में खाना नहीं बना रही हैं. वो काम कर रही हैं. अपने परिवार के लिए धन कम रही हैं. समाज के लिए काम कर रही हैं.उन्होंने कहा कि बिहार के स्यंसेवी महिला संगठनों द्वारा जो भी बैंक लोन लिया जाता है ,उसका समय से भुगतान किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बड़े बड़े लोग बैंकों से लाखों करोड़ का लोन लेकर विदेश भाग जा रहे हैं .लेकिन बिहार की महिलायें समय से अपना लोन चूका रही हैं. ईमानदारी से अपना काम कर रही हैं.नीतीश कुमार ने कहा कि उन्हें जब भी मौका मिला है, महिलाओं को आगे बढाने का हमेशा प्रयास किया है.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

अपनी पार्टी के समाज सुधार वाहिनी संगठन के इस महा-सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए नीतीश कुमार ने उन्होंने महिलाओं को आत्म-निर्भर बनाने के लिए  पंचायतीराज में उनके लिए 50% आरक्षण का प्रावधान किया. आज हर जगह महिलाए मुखिया हैं. हर गांव में जीविका स्वयं सहायता समूह का गठन कराया. नीतीश कुमार ने कहा कि वो प्रचार में नहीं बल्कि काम में भरोसा करते हैं.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यहाँ भी शराबबंदी कानून का जिक्र करना नहीं भूले. उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण की दिशा में उनके द्वारा किया गया यह अबतक का सबसे बड़ा काम है. महिलाओं की मांग पर हमने शराबबंदी जैसा बड़ा फैसला लिया. शराबबंदी को अपना सबसे बड़ा एजेंडा बनाया. एक करोड़ से भी ज्यादा लोगों ने शराब न पीने और न पिलाने की शपथ ली.आज उनके जीवन स्तर में अभूत सुधर और परिवर्तन आया है.

इस कार्यक्रम में जेडीयू के सांसद आरसीपी सिंह ने  कहा कि उनकी पार्टी नवंबर के आखिरी हफ्ते में सभी जिलों में महिला सम्मेलन का आयोजन करेगी. बिहार में 24, 25 और 26 नवंबर को महिला सम्मलेन आयोजित किया जाएगा.उन्होंने कहा कि समाज से लेकर घर परिवार के सञ्चालन में महिलाओं की अहम् भूमिका है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने महिलाओं के लिए जितना काम किया है, आजतक देश के किसी सरकार ने नहीं किया.महिला शिक्षा-स्वास्थ्य से लेकर उनकी राजनीतिक भागेदारी सुनिश्चित करने के लिए उन्होंने बहुत काम किया है.आज की तारीख में उनके राजनीतिक विरोधियों के घर की महिलायें भी नीतीश कुमार के साथ खडी हैं.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.