By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

महागठबंधन का पेंच सुलझने के बजाए और उलझा, सीटों की मांग पर अड़े सहयोगी दल

Above Post Content

- sponsored -

बिहार में लोकसभा चुनाव को लेकर महागठबंधन में फंसा पेंच सुलझने के बजाए और उलझता जा रहा है. सहयोगी दल कम सीटों पर समझौता करने को तैयार नहीं हैं. हालात ये हैं कि सीटों को लेकर सहयोगी दल समझौता करने को तैयार बिल्कुल दिखाई नहीं दे रहे.

Below Featured Image

-sponsored-

महागठबंधन का पेंच सुलझने के बजाए और उलझा, सीटों की मांग पर अड़े सहयोगी दल

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार में लोकसभा चुनाव को लेकर महागठबंधन में फंसा पेंच सुलझने के बजाए और उलझता जा रहा है. सहयोगी दल कम सीटों पर समझौता करने को तैयार नहीं हैं. हालात ये हैं कि सीटों को लेकर सहयोगी दल समझौता करने को तैयार बिल्कुल दिखाई नहीं दे रहे. वहीं शनिवार को तेजस्वी के ट्वीट ने जो महागठबन्धन में खटास पैदा की थी उससे कांग्रेस का आलाकमना नाराज है. इसकी जानकारी मिलते ही अब राजद का आलाकमान डैमेज कंट्रोल में जुट गया है. इस बीच जो खबरे सामने आई है उसके मुताबिक राहुल गांधी से आज तेजस्वी यादव दिल्ली में मुलाकात कर सकते हैं.

इस बीच अंदर से एक खबर यह भी आ रही है कि रालोसपा 5 सीटों की मांग पर अड़ी हुई है लेकिन कांग्रेस उपेन्द्र कुशवाहा को 5 सीटें देने को तैयार नहीं है. कांग्रेस का कहना है कि अगर रालोसपा को पांच सीटें चाहिए तो इसको लेकर राजद को अपनी सीटों में से हिस्सा देना होगा. पार्टी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक सबसे ज्यादा पेंच पूर्वी चंपारण को लेकर फंसा हुआ है. इस सीट को लेकर कांग्रेस और रालोसपा दोनों अड़े हुए हैं. इस सीट से जहां कांग्रेस के एक सीनियर नेता दावेदारी को लेकर अड़े हैं तो कुशवाहा की पार्टी से माधव आनंद की उम्मीदवारी भी इसमें पेंच लगाए है. कुल मिलाकर तेजस्वी के ट्वीट से मचा बवाल फिलहाल कम होता नहीं दिख रहा और फिलाहल महागठबंधन का खेमा डैमेज कंट्रोल से जुटा है.

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.