By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

कांग्रेसी विधायक का बड़ा खुलासाः बिहार में 19 सीटों से कम पर मानने को तैयार नहीं आलाकमान

- sponsored -

बिहार में सीट शेयरिंग महागठबध्ंान में पेंच सुलझने की बजाय रोज उलझता जा रहा है। महागठबंध की मुश्किलें रोज बढ़ रही हैं और सीटों की मगजमारी भी। महागठबंधन में शामिल तमाम सहयोगी दलों के नेता रांची के रिम्स जाकर लालू यादव से मिल चुके हैं बावजूद इसके मामला सुलझा नहीं है और अब कांग्रेस ने साफ कर दिया है कि बिहार में कांग्रेस को 19 सीटों से कम मंजूर नहीं है।

कांग्रेसी विधायक का बड़ा खुलासाः बिहार में 19 सीटों से कम पर मानने को तैयार नहीं आलाकमान

सिटी पोस्ट लाइवः बिहार में सीट शेयरिंग महागठबध्ंान में पेंच सुलझने की बजाय रोज उलझता जा रहा है। महागठबंध की मुश्किलें रोज बढ़ रही हैं और सीटों की मगजमारी भी। महागठबंधन में शामिल तमाम सहयोगी दलों के नेता रांची के रिम्स जाकर लालू यादव से मिल चुके हैं बावजूद इसके मामला सुलझा नहीं है और अब कांग्रेस ने साफ कर दिया है कि बिहार में कांग्रेस को 19 सीटों से कम मंजूर नहीं है। बक्सर से कांग्रेस के विधायक मुन्ना तिवारी ने आज सिटी पोस्ट लाइव से बातचीत करते हुए बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बिहार में बड़े भाई की भूमिका में होगी। हमारे अध्यक्ष राहुल गांधी पटना की रैली मेें कहकर गये हैं कि कांग्रेस फ्रंट फुट पर खेलती रही है और आगे भी खेलेगी। इसलिए तय है कि बिहार में भी कांग्रेस फ्रंट फुट पर हीं खेलेगी। मुन्ना तिवारी ने कहा कि सीटों पर फैसला आलाकमान को हीं लेना है लेकिन कांग्रेसी आलाकमान ने बिल्कुल साफ कर दिया है कि 19 सीटों से कम कांग्रेस को मंजूर नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि पूरे देश में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में है कांग्रेस पार्टी, पटना की जन आकांक्षा रैली की सफलता भी बताती है कि बिहार में कांग्रेस की हैसियत क्या है इसलिए इस हैसियत के हिसाब से हिस्सेदारी चाहिए। कांग्रेसी विधायक मुन्ना तिवारी के इस बयान के बाद बिहार में महागठबंधन के अंदरखाने जाहिर है हलचल तेज होगी। इससे पहले बिहार के पूर्व सीएम हिन्दुस्तान आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने यह कहकर महागठबंधन में भूचाल ला दिया था कि उन्हें रालोसपा से कम सीटें नहीं बल्कि ज्यादा सीटें चाहिए।

Also Read

-sponsored-

कांग्रेस के एक दूसरे विधायक अजीत शर्मा ने भी यह बयान दिया था कि बिहार में कांग्रेस को 19 सीटें चाहिए जाहिर है बिहार में महागठबंधन में सीट शेयरिंग पर भले हीं कोई फैसला नहीं हुआ हो लेकिन कांग्रेस ने अपने लिए सीटों की संख्या तय कर ली है। सीटों पर महागठबंधन में मंची खींचतान रोज नये राजनीतिक तूफान के संकेत दे रही है, पेंच रोज उलझता जा रहा है जाहिर है इस मगजमारी से निपट पाना न तो लालू यादव के लिए आसान होगा और न हीं तेजस्वी यादव के लिए।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.