By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

दिल्ली के चुनाव को भारत बनाम पाकिस्तान की लड़ाई बनाने की कोशिशे तेज.

;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

दिल्ली के चुनाव को भारत बनाम पाकिस्तान की लड़ाई बनाने की कोशिशे तेज.

सिटी पोस्ट लाइव :दिल्ली विधान सभा चुनाव में ध्रुवीकरण की कोशिश बीजेपी ने तेज कर दी है. बीजेपी ने दिल्ली विधान सभा चुनाव को हिंदुस्तान और पाकिस्तान की लड़ाई करार दे दिया है. दिल्ली के डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया ने जब शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के साथ खड़ा होने का ऐलान किया तो उनके पुराने साथी और अब बीजेपी से चुनाव लड़ रहे कपिल मिश्रा ने दिल्ली चुनाव को भारत बनाम पाकिस्तान बना दिया.

उन्होंने दिल्ली चुनाव को ‘हिंदुस्तान बनाम पाकिस्तान’ बताते हुए कहा कि 8 फरवरी को मतदान के दिन दोनों में महामुकाबला होगा.कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘आप और कांग्रेस ने शाहीन बाग जैसे मिनी पाकिस्तान खड़े किए हैं. जवाब में 8 फरवरी को हिंदुस्तान खड़ा होगा. जब-जब देशद्रोही भारत में पाकिस्तान खड़ा करेंगे, तब-तब देशभक्तों का हिंदुस्तान खड़ा होगा.’ दरअसल, सिसोदिया ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के प्रति अपना समर्थन जताया था. जवाब में कपिल मिश्रा ने इस प्रदर्शन को पाकिस्तानी दंगाइयों का दिल्ली पर कब्जा करार दे दिया. मिश्रा ने अपने इस बयान से जुड़े कई न्यूज क्लिप्स भी सोशल मीडिया पर शेयर किए हैं.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

उन्होंने एक ट्वीट किया जिसमें कहा कि 8 फरवरी को दिल्ली की सड़कों पर हिंदुस्तान बनाम पाकिस्तान होगा. उन्होंने ट्वीट किया, ‘भारत बनाम पाकिस्तान, 8 फरवरी, दिल्ली। 8 फरवरी को दिल्ली की सड़कों पर हिंदुस्तान और पाकिस्तान का मुकाबला होगा.एक और ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘पाकिस्तान की एंट्री शाहीन बाग में हो चुकी है. दिल्ली में छोटे छोटे पाकिस्तान बनाये जा रहे हैं. शाहीन बाग, चांद बाग, इंद्रलोक में देश का कानून नहीं माना जा रहा. पाकिस्तानी दंगाइयों का दिल्ली की सड़को पर कब्जा है.

गौरतलब है कि ध्रुवीकरण के डर से ही केजरीवाल आजतक शाहीनबाग़ नहीं गए हैं.लेकिन चुनाव करीब आते आते वहीँ हुआ जिसका उन्हें डर था. बीजेपी ने अब चुनाव को मुस्लिम बनाम हिन्दू की लड़ाई बनाने की कोशिश तेज कर दी है. अब देखना ये है कि क्या जनता भी दिल्ली के चुनाव को भारत बनाम पाकिस्तान बना देती है या फिर अपने विवेक से सही नेता और सरकार का चुनाव करती है.

;

-sponsored-

Comments are closed.