By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

कांग्रेस संगठन को मजबूत करने में जुटे भक्त चरण दास, 13 दिनों में 15 जिलों का करेंगे दौरा

;

- sponsored -

बिहार कांग्रेस अपने संगठन को मजबूत करने में जुट गई है. इसके लिए बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास 13 दिवसीय दौरे पर बिहार पहुंचे हैं. इस दौरान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा सहित कई नेताओं ने उनका स्वागत किया. कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा कि मैं 13 दिन के दौरे पर पटना आया हूं और 15 जिलों में जाऊंगा.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार कांग्रेस अपने संगठन को मजबूत करने में जुट गई है. इसके लिए बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास 13 दिवसीय दौरे पर बिहार पहुंचे हैं. इस दौरान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा सहित कई नेताओं ने उनका स्वागत किया. कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा कि मैं 13 दिन के दौरे पर पटना आया हूं और 15 जिलों में जाऊंगा. उन्होंने कहा कि मैं सभी जिलों में कांग्रेस कार्यकर्ता, आम जनता, छात्रों से मिलूंगा और उनसे संवाद करूंगा.

जिलों में सभी जगह कांग्रेस संगठन में पहचान क्या है, कितने लोगों के बीच पहुंच है इसको देखूंगा और इसके बाद बैठक में निर्णय लिए जाएंगे. बता दें पिछली बार जब चरण दस बिहार पहुंचे थे तो उनका कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने काफी विरोध किया था. यही नहीं पार्टी दफ्तर में भारी हो हंगामा हुआ, इसे देखते हुए कांग्रेस बिहार प्रभारी ने पहले ही चेतावनी दे दी है.

कांग्रेस प्रभारी ने इस बार कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को सख्त चेतावनी दी है. कांग्रेस प्रभारी ने कहा कि जो कार्यकर्ता आपस में ताकत दिखाएंगे, या हंगामा करेंगे तो उन पर कड़ी कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और मेरे जानकारी में इस तरह की बातें आएंगी तो उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

गौरतलब है कि बिहार विधानसभा में कांग्रेस को मुंह की खानी पड़ी थी. इतना ही नहीं लोकसभा चुनाव के दौरान भी उन्हें बस एक सफलता मिली, जिससे पार्टी के शीर्ष नेतृत्व काफी नाराज थे. वहीं इस नारजगी को देखते हुए पूर्व बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने ट्वीट कर शीर्ष नेतृत्व से पड़ मुक्त करने का आग्रह किया है. इसी आग्रह के बाद भक्त चरण दास को बिहार प्रभारी बनाया गया. यही वजह भी रही की शक्ति सिंह गोहिल के समर्थक इस निर्णय से खुश नहीं थे और हंगामा किया था.

;

-sponsored-

Comments are closed.