By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

क्या बिहार को ये डरावने दिन दिखाने के लिए ही नीतीश BJP के साथ भागे थे- तेजस्वी

- sponsored -

चहुँओर अराजकता का माहौल है. अपहरण, बलात्कार, हत्या, लूट, मॉब लिंचिंग से हाहाकार मचा हुआ है. क़ानून व्यवस्था समाप्त हो चुकी है. प्रखंड से लेकर मुख्यमंत्री सचिवालय तक भ्रष्टाचार का बोलबाला है. सरकारी कार्यालयों में विशेष RCP टैक्स चुकाये बिना आप पैर भी नहीं रख सकते.

Below Featured Image

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के पुत्र तेजस्‍वी यादव ने ट्वीट कर कहा है कि बिहार मॉब लिंचिंग का हब बन गया है. चहुंओर अराजकता व भ्रष्‍टाचार का माहौल है. कानून व्यवस्था समाप्त हो चुकी है. तेजस्‍वी ने कहा है कि बिहार में डरावने दिन आ गए हैं और डबल इंजन की बुलेट ट्रेन में बैठे मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार सुस्त व लाचार दिख रहे हैं. एक के बाद एक ट्वीट कर तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर जमकर वार किये.

-sponsored-

पहले ट्वीट में तेजस्वी ने मॉब लीचिंग पर कहा कि मॉब लिंचिंग का हब बिहार बन गया है. बेगूसराय में भीड़ ने पीटकर 3 व्यक्तियों की हत्या की. रोहतास में दलित महिला की पीटकर हत्या. हाजीपुर में दरोग़ा तो जहानाबाद में एएसपी पर हमला. सासाराम में महिला को निर्वस्त्र घुमाया. जिस मुख्यमंत्री में लोकशर्म ही नहीं बची हो उसे क्या-कुछ कहें?

Also Read

दुसरे ट्वीट में कहा बिहार में चहुँओर अराजकता का माहौल है. अपहरण, बलात्कार, हत्या, लूट, मॉब लिंचिंग से हाहाकार मचा हुआ है. क़ानून व्यवस्था समाप्त हो चुकी है. प्रखंड से लेकर मुख्यमंत्री सचिवालय तक भ्रष्टाचार का बोलबाला है. सरकारी कार्यालयों में विशेष RCP टैक्स चुकाये बिना आप पैर भी नहीं रख सकते.

तीसरे ट्वीट में तेजस्वी ने कहा कि हमें ही शर्म आने लगी है आख़िर मुख्यमंत्री नीतीश जी बीजेपी की डबल इंजन वाली बुलेट ट्रेन में बैठकर भी इतने सुस्त, लाचार, बेबस और असहाय क्यों है? 11 करोड़ बिहारवासियों के जनविश्वास का क़त्ल कर बीजेपी को सत्ता सौंपने वाला व्यक्ति आख़िर इतना लाचार कैसे हो सकता है?

चौथे ट्वीट में तेजस्वी ने बीजेपी से नीतीश के गठजोड़ पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि क्या बिहार को ये डरावने दिन दिखाने के लिए ही नीतीश कुमार जी दिन-दहाड़े बीजेपी के साथ भागे थे. अगर मैं ग़लत था और उन्हें अपने चेहरे पर इतना गुमान था तो विधानसभा भंग कर चुनाव में जाते. मुख्यमंत्री जी, जनादेश अपमान के एवज में भाजपा के साथ हुई अपनी गुप्त डील को सार्वजनिक करें.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.