By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

exclusive: ‘आजाद’ बोले-‘ पापा के घर में वापस आया, बीजेपी ने पीठ में घोंपा छुरा’

- sponsored -

लगभग ढाई दशक तक बीजेपी के कद्दावर नेता के रूप में जाने जाने वाले कीर्ति झा आजाद अब कांग्रेस में शामिल हो गये हैं। बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके उनके पिता भागवत झा आजाद भी उसी पार्टी के कद्दावर नेता रहे हैं। कांग्रेस में एंट्री पर कीर्ति झा आजाद ने कहा कि मैं खुशनसीब हूं कि पिता के घर में मेरी वापसी हुई है।

-sponsored-

exclusive: ‘आजाद’ बोले-‘ पापा के घर में वापस आया, बीजेपी ने पीठ में घोंपा छुरा

सिटी पोस्ट लाइवः लगभग ढाई दशक तक बीजेपी के कद्दावर नेता के रूप में जाने जाने वाले कीर्ति झा आजाद अब कांग्रेस में शामिल हो गये हैं। बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके उनके पिता भागवत झा आजाद भी उसी पार्टी के कद्दावर नेता रहे हैं। कांग्रेस में एंट्री पर कीर्ति झा आजाद ने कहा कि मैं खुशनसीब हूं कि पिता के घर में मेरी वापसी हुई है। सिटी पोस्ट लाइव के एडिटर इन चीफ श्रीकांत प्रत्यूष से बातचीत करते हुए कीर्ति आजाद ने कहा कि यह मेरी खुशनसीबी है पिता के घर में वापसी हुई है। पिता जी के कारण अटल-आडवाणी से मुलाकात होते रहती थी। नजदीकियों की वजह से बीजेपी में गया था। बीजेपी छोड़ने की वजह बताते हुए उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में मुखौटे के पिछे असली चेहरा यही है कि वो दंगे कराता है, भाजपा में ंआंतरिक लोकतंत्र नहीं रह गया। अरूण जेटली पर गंभीर आरोप लगाये, दस्तावेजों में घोटाला प्रमाणित हो रहा था उसपर बीजेपी ने कोई एक्शन नहीं लिया उल्टा मेरे पीठ में छुड़ा घोंप दिया।

तब मुझे समझ आया कि न खाउंगा न खाने दूंगा भी एक जुमला था। दरभंगा से चुनाव प्रचार शुरू है। पहले अनाथ था अब देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस से जुड़ा हूं। मैंने अपनी इच्छा कांग्रेस को बता दी है कि मैं दरभंगा से चुनाव लड़ना चाहता हूं। राजनीति से रोजी-रोटी नहीं चलती, भगवान ने इतना दिया है कि बिना चोरी, और झूठ के मेरा काम चल जाए। बीस साल तक दरभंगा की सेवा की इन बीस सालों में आज तक कोई भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा। पार्टी जो तय करेगी वो मंजूर होगा। 20 सालों में सभी दलों के नेताओं से सौहार्दपूण संबंध रहा है। आजाद ने कहा कि कांग्रेस का पहले ग्राफ गिरा था लेकिन अब स्थितियां बदली हैं। कांग्रेस में बहुत सारे नेता हैं।

Also Read

-sponsored-

हमारा प्रयास रहेगा कि कार्यकर्ता की हैसियत से जो काम कांग्रेस देगी मैं वो करूंगा। पुलवामा आतंकी हमले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पुलवामा आतंकी हमले पर विपक्ष सरकार के साथ खड़ा है। सरकार को कठोर कदम उठाना चाहिए। कांग्रेस की केंद्र में सरकार थी तो ऐसी घटनाओं के बाद नरेन्द्र मोदी एक के बाद दस सर लाने की बात करते थे अब तो एक के बदले हजारों सर की जरूरत है।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.