By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सुुखाड़ के बाद भी मुआवजे को तरसते रह गये किसान : सुबोधकांत सहाय

;

- sponsored -

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय ने कहा कि झारखंड के 18 जिलों के 129 प्रखंड सूखाग्रस्त घोषित किए गए। सरकार ने राहत देने की घोषणा की, लेकिन आज तक किसानों को चवन्नी तक नहीं मिली।

-sponsored-

-sponsored-

सुुखाड़ के बाद भी मुआवजे को तरसते रह गये किसान : सुबोधकांत सहाय

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय ने कहा कि झारखंड के 18 जिलों के 129 प्रखंड सूखाग्रस्त घोषित किए गए। सरकार ने राहत देने की घोषणा की, लेकिन आज तक किसानों को चवन्नी तक नहीं मिली। इसी तरह राज्य की भाजपा सरकार ने उज्ज्वला योजना के तहत गैस के सिलिंडर तो बांटे लेकिन आमदनी न होने के कारण लोग गैस भराने से वंचित हो रहे हैं। सहाय ने कहा कि झारखंड के किसान सूखे से परेशान हैं लेकिन उनकी राज्य की भाजपा सरकार सुध नहीं ले रही। झारखंड में किसानों को पहले बिजली सस्ती दरों पर मिलती थी पर अब वह इतनी महंगी हो गई है कि किसानों के लिए खेती करना मुश्किल होता जा रहा है। पर भाजपा सरकार का इसपर ध्यान नहीं है। सहाय शनिवार को कार्यकर्ताओं के साथ जनसंपर्क अभियान में बोल रहे थे। इस क्रम में वह नीमडीह प्रखंड के दर्जनों गांवों का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने लुपुंगडीह, जटागांव, टेंगडीह चलियामा, आदरडीह समेत दर्जनों गांवों को दौरा किया। उन्होंने गांव के लोगों से बात की कार्यकर्ताओं के साथ भी बैठक की। सबसे पहले वे चांडिल स्टेशन के पास के लोगों से मिले। इसके बाद कांग्रेस भवन में झामुमो, झाविमो और विपक्षी पार्टी के कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। मौके पर लापुंगडीह में आजसू से मोहन गोप और सुभाष तंतु समेत कई लोगों ने कांग्रेस का दामन थामा। इस अवसर पर जिला परिषद मानकी सिंह सरदार, प्रखंड अध्यक्ष मनोज देब, देबु चटर्जी, देवाशीष राय और कांग्रेस, झामुमो और झाविमो के कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.