By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तेज प्रताप को पिता लालू ने सिखाया पाठ, कहा-आजादी मिलती नहीं छिनी जाती है

HTML Code here
;

- sponsored -

लालू प्रसाद यादव अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव से कितना प्यार करते हैं, ये बात किसी से नहीं छिपी हुई है. वो वक्त-वक्त पर तेज प्रताप को समझाते भी है. पिछले दिनों तेज प्रताप यादव काफी बेचैन थे, पार्टी के खिलाफ ही उन्होंने मोर्चा खोल दिया था. लेकिन पिता के आने के बाद उनका मन शांत हो गया है.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : लालू प्रसाद यादव अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव से कितना प्यार करते हैं, ये बात किसी से नहीं छिपी हुई है. वो वक्त-वक्त पर तेज प्रताप को समझाते भी है. पिछले दिनों तेज प्रताप यादव काफी बेचैन थे, पार्टी के खिलाफ ही उन्होंने मोर्चा खोल दिया था. लेकिन पिता के आने के बाद उनका मन शांत हो गया है. वे अपने पिता के साथ समय बिता रहे हैं. एक वीडियो पोस्ट करते हुए तेज प्रताप ने लिखा आज पिताजी के साथ उनके संघर्षों के दिन जेपी आंदोलन पर चर्चा हुई जिसमें पिताजी ने बताया किस प्रकार उन्होंने किसानों छात्रों की आवाज को बुलंद करने का काम किया था और पिताजी ने बताया यहां आजादी मिलती नहीं छीनी जाती है अंग्रेजों से हो पूंजीपतियों से हो या फिर देश की जुल्मी सरकार से हो.

बता दें पिछले कई महीनों से तेज प्रताप यादव अपने परिवार और अपनी पार्टी RJD से अलग-थलग पड़े हुए थे, लेकिन 2 दिन पहले आए लालू यादव ने तेज प्रताप यादव को मना लिया. इसका असर यह है कि तेज प्रताप यादव और उनके परिवार बीच की दूरियां खत्म होने लगी है। साथ ही RJD के साथ जो मतभेद था वह भी खत्म होता दिख रहा है. माना जाता है कि लालू यादव राजनीति के गेम चेंजर हैं, लेकिन परिवार में जो मतभेद उत्पन्न हुए थे, उन्हें भी उन्होंने खत्म कर दिया है. तेज प्रताप यादव की परिवार के साथ लगातार बढ़ती नजदीकी इस बात की ओर इशारा कर रही है कि पिता के कहने पर वह पार्टी के लिए प्रचार भी करेंगे और उनकी सारी बातों को मानकर चुप भी रहेंगे.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.